नूरां बहनों के सूफियाना अंदाज ने बिखेरा आवाज का जादू

0
250

Faridabad News : सूरजकुंड मेंंले में सोमवार की संध्या को चौपाल पर नूरां बहनों द्वारा प्रस्तुत किए गए रूहानियत और सुफीयाना अंदाज से भरे गीतों ने युवाओं को दिल खोल कर नाचने पर मजबूर कर दिया। दिलकश आवाज और बेहतरीन तालमेंल से ज्योति और सुल्ताना नूरां ने अपने पिता गुलशन मीर के साथ एक से बढकर एक बेहतरीन प्रस्तुति दी और लोगों के सामने अपनी आवाज का जादू बखेरा।

दोनों बहनों ने जुगनी, दमादम मस्त कलंदर,गुड्डी पटाखा,ख्कुली राह विच पई असी तेरे और तन्नु वैडस मन्नु फिल्म में गाया गया मै तो बावली होगी गाकर सुफी गीतों के शौकीन लोगों की फरमाईश पर बेहतरीन कलाम प्रस्तुत किए। दोनो बहनों की जुगलबंदी पर उनके छोटे भाई साहिल मीर ने तबले पर अपनी उंगलियों की थाप से बेहतरीन माहौल पैदा किया,वहीं ढोलक पर रोहित और पैड पर रवि शर्मा ,एवं गिटार पर विनय पर विनय ने आपसी समन्व्य के साथ माहौल को सुफीमय और संगीतमय बना दिया।

जालंधर से ताल्लुक रखने वाले नूरां बहनों के पिता गुलशन मीर ने बताया कि इन दोनों को उन्होंने खुद तालिम दी है। दोनों बहने करीब साल साल की उम्र में ही गाना गाने लगी थी और स्वयं गुरदास मान भी इन दोनों बहनों को इतनी छोटी उम्र में गाते देख इनके फैन हो गए थे। दोनों बहनों ने हाईवे,तन्नु वैडस मन्नु, दंगल इत्यादि मशहुर फिल्मों में अपनी आवाज का जादू बिखेरा है। कार्यक्रम में सहकारिता राज्य मंत्री मनीष ग्रोवर,मुखय संसदीय सचिव सीमा त्रिखा,उपायुक्त समीरपाल सरो के अलावा विभिन्न गणमान्य नागरिकों के अलावा हजारों की संख्या में श्रौतागण उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here