पढ़ें: एनजीटी कोर्ट के इन सवालों ने की तीन सरकारों की बोलती बंद

0
40669

नई दिल्ली। दमघोंटू प्रदूषण पर मंगलवार को दिल्ली की एनजीटी कोर्ट ने दिल्ली, हरियाणा और पंजाब की सरकारों को फटकार लगाते हुए कई सख्त सवाल पूछे। कोर्ट के सवाल बेहद तीखे थे जिसके सामने तीनों राज्यों से जवाब देते नहीं बन पाया।
एनजीटी कोर्ट ने तीनों ही राज्यों पर कड़ी टिप्पणी करते हुए कहा कि आप कितनी भी मीटिंग कर लें कुछ नहीं होने वाला। पहले 5 दिन किसी राज्य ने कुछ नहीं किया। सुप्रीम कोर्ट, हाई कोर्ट और एनजीटी ने पूछा, तब आप मीटिंग्स करने लगे। जज ने तो अधिकारियों के जवाब पर यहां तक कह दिया कि जितने अधिकारी यहां लेक्चर दे रहे हैं, सब बताएं कि एक साल में क्या किया? क्या किसी को नहीं मालूम था कि दिवाली आने वाली है?
कोर्ट ने दिल्ली से पूछा- हम जानना चाहते हैं कि स्कूल बंद करने से पहले सर्वे किया गया था? इस बात का पता लगाया गया था कि घर के अंदर प्रदूषण है या बाहर? दिल्ली सरकार के वकील ने कोर्ट को जवाब दिया कि वह कदम उठा रही है। लेकिन कोर्ट ने सख्ती से पूछा कि पटाखों पर बैन के लिए जारी नोटिफिकेशन वह दिखाये। सिर्फ चीनी पटाखों के लिए नोटिफिकेशन जारी किए गए थे। कोर्ट ने पावर प्लांट का ऑडिट प्लान दिखाने के लिए कहा।
कोर्ट ने कहा कि आप मजाक कर रहे हो। जिस क्रेन को पानी के लिए इस्तेमाल किया जाता है। उसे आप छिड़काव के लिए इस्तेमाल कर रहे हैं। क्या यह खिलवाड़ है? चालान पर कोर्ट ने कहा कि किसी का आपने 5 लाख का चालान काटा। आपने कितने चालान किए? अगर आप अभी डिफेन्स कॉलोनी जाएंगे तो पाएंगे कि 10 बिल्डर कंस्ट्रक्शन कर रहे हैं।
एनजीटी कोर्ट ने दिल्ली सरकार पर सख्ती दिखाते हुए पूछा प्रदूषण नियंत्रण के लिए आपने क्या कदम उठाए हैं? दिवाली और फसल को जलाया जाना एक आम बात है, जिसकी जानकारी आपको थी लेकिन क्या आपने अगस्त और सितंबर में इसके सॉल्यूशन को निकालने के लिए बैठकें की।
कोर्ट ने दिल्ली से पूछा कि क्या आपके पास कोई डाटा है जो बताए कि स्मॉग कम हो रहा है? आप क्यों क्रेन से पानी का छिड़काव कर रहे हैं, हेलिकॉप्टर से नहीं?
कोर्ट ने पंजाब से पूछा- आपने अगस्त से अभी तक क्या किया? एनजीटी को ऑर्डर का क्या हुआ जिसमें कहा गया था कि मशीन खरीदी गई। कितनी मशीनें खरीदी गई?
कोर्ट ने पूछा- आपने गरीब किसान को मशीनें दी या नहीं? क्योंकि गरीब किसान ही फसल खेत में जलाते हैं। उनके पास कोई दूसरा ऑप्शन नहीं होता।
कोर्ट ने पूछा- आपने विज्ञापन पर कितने खर्च किए? लोगों का जीवन पैसे से ज्यादा बहुमूल्य है।
कोर्ट ने हरियाणा से पूछा- आप बताएं कि आपके ऊपर कितनी राशि दंड के तौर पर लगाएं? आपने एनजीटी के फैसले का सम्मान नहीं किया।
कोर्ट ने वकीलों से पूछा कि पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, दिल्ली राज्य के सेक्रेस्ट्री कहां हैं? कोर्ट ने पूछा कि हेलीकॉप्टर से पानी छिड़काव के बारे में क्यों नहीं सोचा गया?
एनजीटी कोर्ट ने फैसला दिया है कि दिल्ली-एनसीआर में एक हफ्ते के लिए निर्माण काम बंद कर दिया जाएगा। मंगलवार शाम 4 बजे से सारे एमसीडी के कर्मचारियो में 50 प्रतिशत को डस्ट क्लीनिंग में लगा दिया जाएगा।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here