पूर्व CM ओपी चौटाला 10वीं की परीक्षा में पास: अंग्रेजी में 88 नंबर मिले, रुका हुआ है 12वीं का रिजल्ट

Spread the love

चंडीगढ़ , 4 सितम्बर ( धमीजा ) : हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला 86 साल की उम्र में 10वीं की अंग्रेजी की परीक्षा में पास हो गए। इस विषय में पास न होने के कारण ही उनका 12वीं का रिजल्ट स्कूल शिक्षा बोर्ड ने रोक लिया था ।

उम्मीद है कि उनका 12वीं कक्षा का रिजल्ट भी अब सोमवार को जारी हो जाएगा। इसके लिए चौटाला को बोर्ड को आवेदन करना होगा। ओपी चौटाला ने यह सब्जेक्ट 88 नंबरों के साथ पास किया है। अब देखना है कि उनका 12वीं का परिणाम कैसा रहता है।

शनिवार को हरियाणा स्कूल शिक्षा बोर्ड ने पूरक परीक्षाओं का रिजल्ट आऊट किया। बोर्ड के चेयरमैन जगबीर सिंह ने बताया कि पूर्व मुख्यमंत्री ओपी चौटाला को इस बारे में जानकारी दे दी गई है।

उन्होंने पंचकूला में कार्यकताओं की सभा को संबोधित करते हुए अपना रिजल्ट भी साझा किया है। चौटाला के लिए हरियाणा ओपन बोर्ड से 12वीं कक्षा पास करने के लिए 10वीं कक्षा में इंग्लिश का पेपर पास करना जरूरी था।

तिहाड़ जेल में पढ़ाई कर उन्होंने 10वीं पास की 
ओम प्रकाश चौटाला ने जेबीटी भर्ती घोटाले में 2013 से 2 जुलाई 2021 तक सजा भुगतने के दौरान ही तिहाड़ जेल में पढ़ाई करके 10वीं पास की थी। इस साल उन्होंने हरियाणा ओपन बोर्ड से 12वीं की परीक्षा भी दी थी, लेकिन नियमों के चलते रिजल्ट रोक लिया गया ।

चौटाला ने 82 साल की उम्र में 2017 में NIOS (नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ ओपन स्कूल) से उर्दू, साइंस, सोशल स्टडीज और इंडियन कल्चर एंड हेरिटेज विषय में 53.40% अंक हासिल कर 10वीं पास की थी।

12वीं में अंग्रेजी या हिंदी की जगह ली थी उर्दू
5 अगस्त को हरियाणा बोर्ड ने ओपन 12वीं के परीक्षा परिणाम में ओपी चौटाला का रिजल्ट होल्ड कर दिया था, क्योंकि चौटाला ने 10वीं में NIOS से पास परीक्षा में अंग्रेजी या हिंदी का पेपर नहीं दिया था, बल्कि उर्दू विषय लिया था।

ओपी चौटाला ने इसके लिए पूरक परीक्षा का आवेदन करके 18 अगस्त को सिरसा के आर्य कन्या स्कूल में ईवनिंग सेशन में इंग्लिश का पेपर दिया था। चौटाला की तरफ से सिरसा की 9वीं कक्षा की छात्रा मलकीत विर्क ने बतौर एग्जाम राइटर उनका पेपर लिखा था।