बाटा चौक के निकट बिरयानी वाले की दुकान में अंधाधुंध गोलीबारी , एक की मौत ,एक घायल

Spread the love

फरीदाबाद , 10 नवंबर ( धमीजा ) : दिल्ली से सटे फरीदाबाद शहर में बुधवार को दिनदहाड़े बाइक सवार बदमाशों ने दो युवकों को गोली मार दी। गोली लगने से एक युवक की अस्पताल में मौत हो गई, जबकि दूसरा युवक गंभीर रूप से घायल है। वारदात उस वक्त हुई जब दोनों बिरयानी खा रहे थे। पुलिस ने केस दर्ज करके कार्रवाई शुरू कर दी है।

मिली जानकारी के अनुसार, मुस्ताक व मुबारक नामक दो शख्स बुधवार को एनआईटी एरिया में बाटा चौक के पास बनी बिरयानी की दुकान में बिरयानी खाने के लिए गए थे। अभी दोनों ने बिरयानी का ऑर्डर ही दिया था कि पीछे से बाइक पर आए बदमाशों ने उन पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी।

दिनदहाड़े हुई इस वारदात के बाद वहां अफरा-तफरी मच गई। वारदात को अंजाम देने के बाद बदमाश मौके से फरार हो गए। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों घायलों को एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया, जहां मुस्ताक ने दम तोड़ दिया। मुस्ताक को 4 गोली लगी थीं। वहीं मुबारक का इलाज चल रहा है।

परिजनों ने मुस्ताक के इलाज में देरी को लेकर अस्पताल के बाहर काफी देर तक हंगामा भी किया। उसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने लोगों को शांत कराया। परिजनों का आरोप है कि बदमाशों के साथ-साथ अस्पताल के खिलाफ भी कार्रवाई होनी चाहिए, क्योंकि उन्होंने इलाज में देरी की, जिसकी वजह से मुस्ताक की मौत हुई।

थाना कोतवाली पुलिस के अनुसार मुस्ताक अपने दोस्त नरेंद्र के साथ दिल्ली में गेस्ट हाउस चलाता था। करीब छह महीने से उसकी गाजीपुर निवासी विनोद नामक युवक से रंजिश चल रही थी। आरोप है कि विनोद पहले भी मुस्ताक के ऊपर हमला करा चुका है। उसके डर की वजह से मुस्ताक एसी नगर में अपना घर छोडक़र दिल्ली में रहता था। इन दिनों त्योहारों के चलते वह घर आया हुआ था। परिजन ने बताया कि एक दिन पहले भी विनोद के गुर्गों ने मुस्ताक को एसी नगर में घेर लिया था, मगर वह किसी तरह बच गया। सुबह वह बिरयानी खाने घर से निकला था। तभी उसके ऊपर हमला हो गया। गोली लगने के बाद मुस्ताक को फोर्टिस अस्पताल में भर्ती कराया गया। उसे मृत घोषित किए जाने के बाद परिजनों ने निजी अस्पताल में हंगामा किया। किसी तरह के उपद्रव को रोकने के लिए अस्पताल में बड़ी संख्या में पुलिसबल तैनात करना पड़ा। इसके बाद आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर पोस्टमार्टम के दौरान बादशाह खान अस्पताल में भी हंगामा किया। डीसीपी जयबीर राठी, डीसीपी नरेंद्र कादियान सहित अन्य अधिकारियों ने परिजन को समझाकर शांत किया। फारेंसिक टीम और सभी क्राइम ब्रांच भी मौके पर पहुंची। उन्होंने मौके से सबूत जुटाए। क्राइम ब्रांच डीएलएफ का दावा है कि वे हमलावरों के बेहद नजदीक हैं। यह मामला जल्द सुलझा लिया जाएगा। पुलिस ने मुस्ताक के परिजन की शिकायत पर विनोद सहित अन्य के खिलाफ  हत्या की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है।

मौके पर जांच करती पुलिस। - Dainik Bhaskar