हरियाणा की चर्चित आईएएस अफसर रानी नागर ने जताई अपनी हत्या की आशंका , फेसबुक पर की तस्वीर शेयर

Spread the love

फरीदाबाद , 23 अप्रैल ( धमीजा ) : हरियाणा कैडर की महिला आईएएस रानी नागर की खुद की हत्या की बात ने सनसनी पैदा कर दी है। नागर ने अपने फेसबुक वॉल पर यह जानकारी दी है। नागर इससे पहले अपने पद से इस्तीफा देने को लेकर चर्चा में रह चुकी हैं। हालांकि, उनका इस्तीफा केंद्र सरकार ने नामंजूर कर दिया था।

हरियाणा सरकार के CRI विभाग में अतिरिक्त सचिव IAS ऑफिसर रानी नागर ने हत्या की आशंका जताई है। गाजियाबाद में रह रहीं रानी नागर ने इस संबंध में शनिवार सुबह एक कारतूस और ताबीज की फोटो शेयर करते हुए कहा, अगर मेरी हत्या कर दी जाती है तो इस कथन को वैध साक्ष्य के रूप में स्वीकार किया जाएगा।

महिला आईएएस ने आज सुबह फेसबुक पोस्ट पर लिखा…
‘मैं मार्च-2022 से नेहरूनगर सेकेंड ए-220 में अपने पिता के घर पर रह रही हूं। इन सामानों को इस मकान में मेरे कमरे में रखा गया है, ताकि मुझे जान से मारने की धमकी दी जा सके। मैं रानी नागर आईएएस हरियाणा सरकार के अतिरिक्त सचिव सीआरआई विभाग द्वारा आज 23 अप्रैल 2022 को सुबह 8 बजकर 09 मिनट पर भारत के संविधान के अनुसार ईश्वर की शपथ पर यह बयान दर्ज कराती हूं कि यदि निकट भविष्य में अपराधियों द्वारा मेरी हत्या कर दी जाती है तो इस शपथ के कथन को वैध साक्ष्य के रूप में स्वीकार किया जाए।’

पहले भी चर्चा में रही हैं रानी नागर
रानी नागर मूल रूप से उत्तर प्रदेश के जिला गौतमबुद्धनगर स्थित बादलपुर की रहने वाली हैं। फिलहाल वे अपने पिता के साथ गाजियाबाद के नेहरूनगर सेकेंड ए-220 में रह रही हैं। वे 2014 बैच हरियाणा कैडर की आईएएस अफसर हैं। रानी ने जून 2018 में पशुपालन विभाग में अतिरिक्त सचिव रहते मुख्य सचिव स्तर के अधिकारी सुनील गुलाटी पर उत्पीड़न के आरोप लगाए थे, जिसे लेकर वो सुर्खियों में आई थीं। आरोप था कि ये अधिकारी उनके साथ ‘दोहरे अर्थ’ वाले शब्दों में बात करते हैं। मामला हरियाणा सीएम तक पहुंचा था। हालांकि गुलाटी इन आरोपों को नकार चुके हैं।

रानी नागर एक कैब ड्राइवर पर भी बदतमीजी का आरोप लगा चुकीं हैं। हरियाणा के डबवाली में एसडीएम रहते हुए भी अपनी जान को खतरा बताया था। 4 मई 2020 को रानी नागर ने इस्तीफा दे दिया, जो बाद में उन्होंने खुद ही वापस ले लिया। आपको बता दें कि रानी नागर 22 जून 2022 तक अवकाश पर हैं गाजियाबाद में रह रही हैं।