बैंक डकैती का मुख्य लुटेरा निकला आईटीबीपी का कांस्टेबल एवं कामनवेल्थ का गोल्ड मेडलिस्ट

Spread the love

फरीदाबाद , 25 अप्रैल ( धमीजा ) : हरियाणा के हिसार शहर में एक सप्ताह पहले यूनियन बैंक आफ इंडिया (UBI) में हुई 16.19 लाख रुपए की डकैती के मामले में पुलिस पांचों डकैतों को काबू कर लिया है। आरोपियों में एक आईटीबीपी ( ITBP ) कॉन्स्टेबल जूनियर कॉमनवेल्थ गेम्स गोल्ड मेडलिस्ट जूडो खिलाड़ी सोनी है। बुरी संगत में आकर और जल्द अमीर बनने के सपने को साकार करने के लिए बैंक डकैती की साजिश इसी ने रची थी।

हिसार एसटीएफ (STF) ने 3 आरोपियों को जहां हिसार के गुरु जम्बेश्वर यूनिवर्सिटी के पास और दो को अंबाला से काबू किया है। पांचों को फिलहाल 8 दिन के रिमांड पर लिया गया है। पांचों गिरफ्तार लुटेरों की पहचान सोनी निवासी नगथला हिसार, सोनू निवासी खरकरामजी जींद, विकास निवासी चिड़ाना सोनीपत, नवीन निवासी सेहरी सोनीपत और प्रदीप निवासी भाठला हिसार के तौर पर हुई है।

मुख्य साज़िशकर्ता सोनी से बरामद हुई गन और नगदी

एसटीएफ के एसपी सुमित कुमार और एसपी हिसार लोकेंद्र सिंह ने बताया कि STF इंस्पेक्टर विजेन्द्र सिहाग की टीम ने बैंक डकैती केस के मुख्य साजिशकर्ता आरोपी सोनी पुत्र बलवन्त सिह निवासी नगथला जिला हिसार को गुरु जम्बेश्वर यूनिवर्सिटी के पास से काबू किया है। सोनी आईटीबीपी में कॉन्स्टेबल है और  जूनियर कॉमनवेल्थ गेम्स गोल्ड मेडलिस्ट जूडो खिलाड़ी है। उसके कब्जे से 60 हजार रुपए , 12 बोर की एक गन जो बैंक गार्ड से लूट के दौरान छीनी गई थी, बरामद हुई है।

हिसार के नगथला गांव का सोनी जूडो का खिलाड़ी रहा है। जूनियर कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड मेडलिस्ट है। फिलहाल वह ITBP कॉन्स्टेबल है। पुलिस पूछताछ में सामने आया है कि वह हिसार के महावीर स्टेडियम में खेलने आता था। इसी दौरान उसकी मुलाकात हिसार के ही भाठला गांव के प्रदीप के साथ हुई थी। प्रदीप पर पहले एक केस दर्ज है। इसके बाद बुरी संगत में फंसकर जल्द पैसा और नाम कमाने का भूत सोनी के सिर चढ़कर बोलने लगा।

बैंक के सीसीटीवी में कैद हो गए थे डकैत। कैश निकालता बदमाश।

ऐसे रची थी बैंक लूट की साज़िश 

पुलिस की मानें तो डकैती या लूट कहां करनी है, इसका खाका सोनी ने ही खींचा था। उसने जगह की पहचान की, रेकी की और अपने साथियों को इसका भ्रमण कराया। लूट की वारदात से पहले पूरी जानकारी जुटाई। वारदात के बाद लुटेरों को इसी ने शहर से बाहर निकाला था। हिसार का निवासी होने के कारण इसको सभी रास्तों की जानकारी थी।

इसके साथ ही STF ने सोनू पुत्र जगदीश जाट वासी खरकरामजी जिला जीन्द को गांव काकडु पुल हाईवे अम्बाला से काबू किया। उससे 60 हजार रुपए की रिकवरी हुई है। आरोपी विकास पुत्र खुशी राम वासी चिडाना जिला सोनीपत को गां काकडु पुल हाईवे अम्बाला से 40 हजार रुपए के साथ पकड़ा। आरोपी नवीन पुत्र देवेन्द्र सिंह पुत्र प्रहलाद मास्टर सेहरी जिला सोनीपत को गुरु जम्बेश्वर यूनिवर्सिटी के पास से पकड़ा गया है। उससे 20 हजार रुपए की रिकवर किए हैं। आरोपी प्रदीप पुत्र बलवान उर्फ बल्लू निवासी भाटला जिला हिसार को भी GJU के पास से काबू किया। उससे 90 हजार रुपए व पिस्तौल बरामद हुई है।

लूट के 2.40 रु लाख रिकवर

एसपी ने बताया कि अभी तक बैंक से लूटी हुई राशि में से कुल 2 लाख 40 हजार रुपए बरामद किये जा चुके हैं। सभी को कोर्ट में पेश कर 8 दिन का रिमांड हासिल किया गया है। रिमांड के दौरान वारदात में लूटी गई शेष राशि और प्रयुक्त हथियारों की बरामदी का प्रयास पुलिस करेगी। अभी तक ये कहां कहां वारदात कर चुके हैं, इसके बारे में भी पता लगाया जाएगा। उन्होंने बताया कि बैंक लूट का मुख्य आरोपी सोनी कौमनवैल्थ जूनियर जुड़ी खेलों में गोल्ड मेड लिस्ट है तथा अब ITBP में बतौर सिपाही के पद पर तैनात है। अभियोग का अनुसंधान ASI राजेश कुमार एस. टी. एफ. हिसार द्वारा किया जा रहा है।

बता दें कि पिछले सोमवार को हरियाणा के हिसार में सोमवार दोपहर को दिनदहाड़े यूनियन बैंक ऑफ इंडिया में डकैती पड़ी। बैंक में घुसे 4 हथियारबंद युवकों ने बैंक स्टाफ के साथ यहां मौजूद ग्राहकों को भी गन प्वाइंट पर बंधक बना लिया। एक आरोपी बाहर गाड़ी में था। सब कुछ इतना तेजी से हुआ कि बैंक कर्मियों को संभलने का मौका तक नहीं मिला। युवक यहां से 16 लाख 19 हजार रुपए कैश लूट कर फरार हो गए।

हिसार के आजाद नगर क्षेत्र में सीआर ला कॉलेज के पास यूनियन बैंक ऑफ इंडिया की शाखा है। सोमवार दोपहर को बैंक में आम दिनों की काम काज चल रहा था। कर्मियों के साथ यहां ग्राहक भी पहुंचे हुए थे। बैंक में तब हड़कंप मच गया, जबकि चार नकाबपोश युवक बैंक में पहुंचे। युवकों ने गेट पर खड़े बैंक गार्ड को दबोच लिया। उसकी दोनाली बंदूक को कब्जे में ले लिया। विरोध करने पर गार्ड के साथ मारपीट की गई।