रक्षा उत्पाद एवं इनोवेशन क्षेत्र में सराहनीय काम करने पर असम के गवर्नर जगदीश मुखी ने उद्यमी श्याम सुंदर कपूर को दिया अवार्ड

Spread the love

फरीदाबाद , 23 मई ( धमीजा ) :  दिल्ली में आयोजित एक समारोह में असम के राज्यपाल जगदीश मुखी ने शहर के उद्योगपति श्याम सुंदर कपूर को रक्षा उत्पादों में इनोवेशन कार्य करने के लिए अवार्ड प्रदान किया है।  देश की अर्थव्यवस्था को लेकर आर्थिक अध्धयन संस्थान नई दिल्ली द्वारा एक सेमीनार इंडियन हेबीबेट सेंटर दिल्ली में आयोजित किया गया। इस अवसर पर देश के विकास में योगदान देने एवं उद्योग जगत के रक्षा उत्पाद एवं इनोवेशन क्षेत्र में शानदार काम करने पर फरीदाबाद के उद्यमी श्याम सुंदर कपूर को अवार्ड प्रदान किया गया।  समारोह में उद्योग ख्स्त्र की कई हस्तियों को विशेष पुरस्कार से नवाजा गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि असम के राज्यपाल जगदीश मुखी थे। इस कार्यक्रम का आयोजन ऑल इंडिया फोरम ऑफ एमएसएमई के सहयोग से किया गया। इस अवसर पर देश की आर्थिक स्थिति को लेकर इस क्षेत्र के विशेषज्ञों द्वारा अपने विचार रखे गए।
कार्यक्रम में असम के राज्यपाल जगदीश मुखी ने एआईएफओएम के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं फरीदाबाद के जाने माने उद्यमी श्याम सुंदर कपूर को देश की सुरक्षा से संबंधित रक्षा उत्पादों के इनोवेशन के उत्पादन के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान देने के लिए नेशनल इनोवेशन अवार्ड से सम्मानित किया गया। इस अवसर पर असम के राज्यपाल जगदीश मुखी ने सभी उद्यमियों को अपने प्रदेश में आने के लिए आमंत्रित किया । उन्होंने कहा कि देश के विकास में उद्योग जगत का प्रमुख योगदान हैं। इसलिए उद्यमियों का एक शिष्टमंडल असम आए, जहां उनकी असम के चेंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्टीज  के साथ बैठक आयोजित करवाई जाएगी। श्री मुखी ने इस विशेष पुरस्कार के लिए श्याम सुंदर कपूर को बधाई दी। कार्यक्रम में जितेंद्र पाल शाह, रामचंद्र चौधरी, डीके मिश्रा एवं केवीआर नैयर को भी बिजनेस आईकोन अवार्ड देकर सम्मानित किया गया।
इस अवसर पर कार्यक्रम में उपस्थित गणमान्य लोगों को बताया गया कि श्याम सुंदर कपूर ने एक सूक्ष्म उद्योग से अपना काम शुरू किया था। उन्होंने दिन रात मेहनत कर अपने उद्योग को बुलंदियो तक पहुंचाया है। वोकल फॉर लोकल के सिद्धांत पर चलते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सपने को साकार करके दिखाया है। श्री कपूर ने विदेश से इंपोर्ट करने वाले अनेक रक्षा उत्पादों को भारत में ही बनाने की शुरूआत की है। इसमें उन्हें बड़ी सफलता तो मिली ही है। इस अवसर पर कार्यक्रम में भारतीय आर्थिक संस्थान के प्रेसीडेंट संगीता सिंह, डा. अमरपाल सिंह सूरी, डा.एमएन राजेंद्र कुमार, अतुल सोबती, केएन पोपली,  एआईएफओएम के नेशनल  जनरल सैकेटरी अनिल कुमार चौधरी तथा आरडी वर्मा प्रमुख रूप से उपस्थित थे।