हरियाणा में राज्यसभा चुनाव विवाद , शुरू नहीं हो पा रही मतगणना, सभी दल पहुंचे चुनाव आयोग

Spread the love

चंडीगढ़ , 10 जून ( धमीजा ) : हरियाणा की 2 राज्यसभा सीटों के लिए मतदान शुक्रवार सुबह 9:00 बजे शुरू हुआ । मतदान की प्रकिया शाम 4:00 बजे तक चली। शाम 5:00 बजे मतगणना शुरू होनी थी , परंतु सत्तापक्ष और विपक्ष द्वारा चुनाव आयोग को शिकायतें दिए जाने के कारण मतगणना शुरू नहीं की गई। चुनाव आयोग ने भाजपा और कांग्रेस डेलीगेशन से मुलाकात के बाद चुनाव की वीडियो रिकाॅर्डिंग मंगवाई । वीडियो देखने के बाद ही चुनाव आयोग मतगणना शुरू करने के संबंध में फैसला लेगा।

मतदान के दौरान हरियाणा के सीएम मनोहर लाल ने दोपहर को मीडिया से बातचीत में कहा कि दो लोगों ने चुनावी नियमों का उल्लंघन किया है। यह शिकायत केंद्रीय पर्यवेक्षक के पास गई है। हालांकि दूसरी ओर कांग्रेस उम्मीदवार अजय माकन ने भी चुनाव आयोग को पत्र लिखा है।

भाजपा ने चुनाव आयोग से कांग्रेस के दो वोट रद्द करने की मांग की ​​​​​​

भाजपा का एक डेलीगेशन दिल्ली में शाम साढ़े पांच बजे चुनाव आयोग को मिलने पहुंच गया। इस डेलीगेशन में अब्बास नकवी, केंद्रीय मंत्री गजेंद्र शेखावत, केंद्रीय मंत्री अर्जुन मेघवाल पहुंचे। भाजपा ने कांग्रेस की किरण चौधरी और बीबी बत्रा का वोट रद्द करवाने की मांग की है। मुलाकात के बाद सभी नेता बाहर आ गए है। अब्बास नकवी ने कहा कि हमनें पूरी चुनाव प्रकिया को लेकर जानकारी दी। आयोग ने इस पर संज्ञान लेने की बात कही है। एजेंट के अलावा किसी दूसरे को वोट नहीं दिखाया जा सकता। वोटिंग के दौरान नियमों का पालन नहीं हुआ। इसलिए दोनों वोट रद्द किए जाए। वहीं कांग्रेसी नेताओं ने भी 6 बजे चुनाव आयोग से मुलाकात के लिए वक्त मांगा है। केंद्रीय चुनाव आयोग ने इस मामले पर वीडियो कांफ्रेसिंग से सुनवाई शुरू कर दी है। शाम 6 बजे के बाद कांग्रेस का डेलीगेशन भी चुनाव आयोग के कार्यालय पहुंच गया।

कार्तिकेय शर्मा ने रिटर्निंग अफसर के खिलाफ की शिकायत

निर्दलीय उम्मीदवार कार्तिकेय शर्मा ने केंद्रीय चुनाव आयोग को रिटर्निंग ऑफिसर की शिकायत की। उन्होंने अपनी शिकायत में कहा कि बीबी बत्रा और किरण चौधरी ने अपने एजेंट को बैलट दिखाने के बाद दूसरे एजेंटों को भी दिखा दिया। मैनें मौखिक और लिखित ऑब्जेक्शन रिटर्निंग ऑफिसर को दिया। परंतु उन्होंने शिकायत पर कारवाई नहीं की। वे कांग्रेस उम्मीदवार के पक्ष में काम कर रहे हैं। इसलिए आरके नांदल के खिलाफ कारवाई करने और बीबी बत्रा व किरण चौधरी के वोटों को रद्द करने की मांग की।

आरोप है कि नांदल ने जिम्मेदारी के अनुसार फ्री व फेयर इलेक्शन कराने की बजाए कांग्रेस प्रत्याक्षी को फायदा पहुंचाने के लिए काम किया है। बीजेपी के चुनाव एजेंट घनश्याम दास अरोड़ा ने भी नांदल पर आरोप लगाए है।

धनश्याम ने शिकायत की नांदल ने उनकी शिकायतों पर गौर नहीं किया और कांग्रेस प्रत्याक्षी के पक्ष में कार्य किया। चुनाव में ऑब्जर्वरों की रिपोर्ट के बिना नांदल ने आपत्तियों को रिजेक्ट करके पक्षपात का काम किया है। इसलिए बीबी बत्रा और किरण चौधरी के वोटों को रद् किया जाए।

अजय माकन ने भी की शिकायत

दूसरी ओर कांग्रेस उम्मीदवार अजय माकन ने भी चुनाव आयोग को पत्र लिखकर कहा कि दिग्विजय चौटाला और कार्तिकेय शर्मा अपनी हार देखकर साफ सुथरे चुनाव के परिणाम को रुकवाने या टलवाने की कोशिश में लगे हैं। जबकि रिटर्निंग ऑफिसर ने बीबी बत्रा और किरण चौधरी के वोट को पहले ही वेलिड घोषित कर दिया गया है।

बलराज कुंडू ने नहीं दिया वोट 

चुनाव में 90 में से 89 एमएलए ने वोट डाले। केवल एक ही वोट निर्दलीय विधायक बलराज कुंडू का शेष है। वोटिंग का समय चार बजे तक है। इसलिए बलराज कुंडू को मनाने के लिए भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष ओपी धनखड़ और गृह मंत्री अनिल विज उसके फ्लैट पर पहुंचे। उसे मनाने का प्रयास किया जा रहा है। कुंडू ने वोट न देने का ऐलान किया था। परंतु बलराज कुंडू ने वोट करने से इंकार कर दिया। कुंडू ने कहा कि ओपी और अनिल विज उनके पास आए थे। परंतु मैं यू टर्न नहीं लेंगे। मेरा फैसला दृढ़ है।

बतां दे कि सुबह 11 बजे विधानसभा पहुंचे महम के विधायक बलराज कुंडू ने कहा कि प्रदेश हित में मैं किसी को वोट नहीं डालूंगा। मैं अनुपस्थित हो रहा हूं। मुझे पैसों का लोभ दिया गया। परंतु मुझे कोई खरीद नहीं सकता। मेरा यह अंतरात्मा के साथ लिया हुआ फैसला है।

दो कांग्रेसी विधायकों के वोटों पर प्रश्नचिन्ह 

मतदान के दौरान दो कांग्रेसी विधायकों के वोट रद्द होने की चर्चाएं चली। आरोप है कि दोनों ने अपना वोट अपने एजेंट के अलावा जजपा पार्टी के एजेंट दिग्विजय चौटाला को दिखा दिया। शिक्षा मंत्री कंवर पाल ने कहा कि जजपा और विनोद शर्मा सहित सभी ने ऐतराज जताया। चुनाव आयोग को वीडियो रिकार्डिंग देखने के लिए कहा गया। हमारे एजेंट ने शिकायत दी है। उसके आधार पर चुनाव आयोग फैसला करेगा। दूसरी ओर कांग्रेसी विधायक गीता भुक्कल ने कहा कि दोनों के वोट रद्द नहीं हुए। चुनाव आयोग ने शिकायत को सही नहीं माना। जबकि किरण चौधरी ने कहा कि वह प्रभारी को वोट दिखाकर आई हैं। उसे इस बात की जानकारी नहीं है कि उसका वोट रद्द हुआ है।

निर्दलीय विधायक ने किया है दावा

वहीं निर्दलीय विधायक रणधीर गोलन का दावा कि एक कांग्रेसी विधायक का वोट रद्द हुआ है। हालांकि उन्होंने नाम बताने से इंकार कर दिया। दूसरी ओर रामकुमार गौतम ने भी वोट डाला। रामकुमार गौतम ने अपने एजेंट दिग्विजय पर तंज कसते हुए कहा कि अब दिग्विजय को वोट दिखाना पड़ेगा। अभय चौटाला ने कहा कि उसने अपना वोट कार्तिकेय शर्मा को दिया और जीत उनकी होगी।

वोटिंग सेंटर पर बैठे उम्मीदवारों के एजेंट

कांग्रेसी विधायक सैनी बोले मूंछ मुंडवा लूंगा

कांग्रेसी विधायक बस में सवार होकर विधानसभा पहुंचे। कांग्रेसी विधायक बिशन लाल सैनी ने कहा कि उनके उ म्मीवार को 35 वोट मिलेंगे। यदि इतने वोट नहीं आए तो मूंछ मुंडवा लूंगा। असंध विधायक शमशेर सिंह गोगी ने कहा कि भाजपा वाले ऐसी अफवाहें फैलाने में मशहूर है।

इससे पहले सुबह 9:00 बजे मुख्यमंत्री मनोहर लाल विधानसभा पहुंचे और मतदान किया।सीएम ने कहा कि राज्यसभा चुनाव के लिए अपना वोट देकर उन्होंने लोकतंत्र के पर्व में हिस्सा लिया है। उन्होंने कहा कि पूरे विश्वास के साथ कह सकते हैं कि संसद के ऊपरी सदन में हमारे चुनकर जाने वाले प्रतिनिधि राष्ट्र सेवा और नीति निर्माण में अपनी अहम भूमिका निभाएंगे।

कांग्रेस के दो विधायक आफताब अहमद और बीबी बत्रा हरियाणा प्रभारी विवेक बंसल भी पहुंचे। वोट डालने पहुंचे कुलदीप बिश्नोई ने मीडिया के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि अपनी अंतरात्मा की आवाज पर वोट दूंगा। वहीं वोट डालने के बाद कांग्रेसी विधायक कुलदीप वत्स ने दावा किया कुलदीप बिश्नोई ने कांग्रेस को ही वोट दिया है। उन्होंने हरियाणा प्रभारी और एजेंट विवेक बंसल को अपना वोट दिखाया है। जबकि कुलदीप बिश्नोई ने कहा कि उसने अपनी अंतरात्मा की आवाज सुनकर वोट डाला।

 दो बसों में पहुंचे भाजपा और निर्दलीय विधायक

भाजपा विधायक, जजपा और निर्दलीय विधायक भी दो बसों में सवार होकर विधानसभा पहुंचे। भाजपा के मंत्रियों और विधायकों का दावा कि हम दोनों सीटें जीतेगी। डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला, खेल मंत्री संदीप सिंह, नैना चौटाला सहित सत्तापक्ष के सभी विधायक पहुंच गए है।

मणिपुर के मुख्य चुनाव आयुक्त राजेश अग्रवाल और हरियाणा के CEO अनुराग अग्रवाल को केंद्रीय पर्यवेक्षक लगाया गया है। विधायकों को बैलेट पेपर पर विशेष पैन से निशान लगाने हैं। विधायकों के लिए अपनी पार्टी के एजेंट को वोट दिखाना जरूरी है।

हुड्‌डा निवास पर पहुंचे कांग्रेसी विधायक

सुबह 11 बजे चंडीगढ़ हुड्‌डा आवास पर कांग्रेस के विधायक पहुंच गए। दीपेंद्र हुड्‌डा ने दावा कि अजय माकन की जीत पक्की है। वोट 31 से ज्यादा निकलेंगे। बतां दे कि कांग्रेसी विधायक हॉर्स ट्रेडिंग के भय से पिछले 7 दिनों से रायपुर में रूके हुए थे। इससे पहले गुरुवार शाम को भूपेंद्र सिंह हुड्‌डा, छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सिंह व कुलदीप बिश्नोई तीनों एक साथ चंडीगढ़ पहुंचे। कांग्रेस हाईकमान से नाराज कुलदीप बिश्नोई भी चंडीगढ़ में ही भूपेश बघेल के साथ रूके।