महिला कोच उत्पीड़न मामले में खेल मंत्री संदीप सिंह ने दिया इस्तीफ़ा , चंडीगढ़ पुलिस ने किया मुकदमा दर्ज

Spread the love

चंडीगढ़ , 1 जनवरी ( धमीजा ) : महिला कोच के उत्पीड़न का मुकदमा दर्ज होने के बाद हरियाणा के खेल मंत्री और ओलिंपियन संदीप सिंह ने रविवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया। इंडिया के पूर्व हॉकी खिलाड़ी संदीप सिंह ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर से सुबह मुलाकात कर अपना इस्तीफा सौंपा। संदीप बोले कि उनके खिलाफ आरोप एक साजिश हैं। खेल मंत्री संदीप के खिलाफ खेल विभाग की जूनियर महिला कोच ने शिकायत की थी। जिसमें खेल मंत्री पर उसके साथ छेड़छाड़ करने और धमकी देने के आरोप लगाए गए थे।

चंडीगढ़ के सेक्टर 26 पुलिस थाने में दर्ज केस में भारतीय दंड संहिता की धारा 354, 354ए, 354 बी, 342 और 506 लगाई गई है। चंडीगढ़ पुलिस के मुताबिक केस दर्ज करने के बाद इसकी जांच की जा रही है।

इस्तीफा देने के बाद संदीप सिंह ने कहा कि मेरी छवि को खराब करने के लिए एक माहौल बनाया जा रहा है। एक जूनियर महिला कोच ने मेरे ऊपर आरोप लगाए हैं। नैतिकता के आधार पर मैंने अपना खेल विभाग मुख्यमंत्री को सौंप दिया है। इस मामले में जांच चल रही है। जब इस मामले की रिपोर्ट आएगी, उसके बाद ही मुख्यमंत्री अगला फैसला करेंगे।

महिला कोच ने लगाए 4 गंभीर आरोप

1. मंत्री ने स्नैपचैट व इंस्टाग्राम पर मैसेज भेजे और लेक साइड पर बुलाया 

महिला कोच ने बताया कि 2016 रियो ओलिंपिक में हिस्सा लेने के बाद वह खेल विभाग में जूनियर कोच के तौर पर भर्ती हुई थी। जिसके बाद संदीप सिंह ने इंस्टाग्राम और स्नैपचैट पर उसको मैसेज भेजे। फिर मुझे चंडीगढ सेक्टर 7 लेक साइड मिलने के लिए बुलाया। मैं नहीं गई तो वे मुझे इंस्टाग्राम पर ब्लॉक और अनब्लॉक करते रहे। महिला कोच के आरोपों के मुताबिक 1 जुलाई को मंत्री ने उसे स्नैपचैट कॉल किया। जिसमें डॉक्यूमेंट्स वैरिफिकेशन के लिए मुझे सेक्टर 7, चंडीगढ़ में अपने आवास पर आने के लिए कहा।

2.  कहा- तुम मुझे खुश रखो, मैं तुम्हें खुश रखूंगा

महिला कोच ने कहा कि इसके बाद वह मंत्री के सरकारी घर पर पहुंची। वहां वे कैमरा वाले ऑफिस में नहीं बैठना चाहते थे। वह मुझे अलग केबिन में लेकर गए। वहां मेरे पैर पर हाथ रखा। मंत्री ने कहा कि तुम मुझे खुश रखो, मैं तुम्हें खुश रखूंगा। मेरी बात मानने पर आपको सभी सुविधाएं और मनचाही जगह पोस्टिंग मिलेगी।

3. छेड़खानी में मेरी टी-शर्ट फट गई

महिला कोच ने संगीन आरोप लगाते हुए कहा कि शाम करीब 6.50 बजे मंत्री संदीप सिंह ने उससे छेड़छाड़ की। इस दौरान महिला कोच की टी-शर्ट फट गई। किसी तरह वह उनके चंगुल से छूटकर बाहर गई।

4. बात ना मानने पर कर दिया ट्रांसफर 

महिला कोच ने आरोप लगाया कि जब मैंने मंत्री की बात नहीं मानी तो मेरी ट्रांसफर कर दी गई। मेरी ट्रेंनिग तक रोक दी गई। मैंने घटना की शिकायत के लिए डीजीपी कार्यालय, सीएम हाउस और गृह मंत्री अनिल विज हर स्तर पर प्रयास किया, लेकिन कहीं भी सुनवाई नहीं हुई।

चंडीगढ़ पुलिस को शिकायत, सीसीटीवी चेक करने की मांग 
जूनियर महिला कोच ने हरियाणा पुलिस के साथ ही चंडीगढ़ पुलिस में भी लिखित शिकायत दी है। जिसमें कोच ने छेड़छाड़ की वारदात की तारीख 1 जुलाई 2022 बताई। उसने मंत्री की कोठी के बाहर से लेकर सुखना लेक तक लगे सीसीटीवी कैमरों की भी जांच कराने की मांग की है। महिला कोच ने यह भी आरोप लगाया कि नौकरी लगने से पहले ही खेल मंत्री ने उसे पहले दोस्ती करने को कहा और बाद में गर्लफ्रेंड बनने की पेशकश की।

हरियाणा सरकार ने गठित की एसआईटी 
हरियाणा के खेल मंत्री संदीप सिंह पर जूनियर महिला कोच के आरोप के बाद DGP ने एसआईटी गठित की है। जिसमें IPS ममता सिंह और समर प्रताप सिंह के साथ HPS राजकुमार कौशिक को शामिल किया गया है। एसआईटी को ममता सिंह लीड कर रही हैं। डीजीपी ने इस केस की पूरी जांच की रिपोर्ट जल्द मांगी थी।

मंत्री ने कहा मेरे खिलाफ साजिश 
खेल मंत्री ने इन सब आरोपों को खारिज कर दिया। उन्होंने कहा कि उनके खिलाफ साजिश रची गई है। जिसमें उन्हें फंसाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि महिला कोच पंचकूला में रहने के लिए इस तरह के आरोप लगा रही है। इस बारे में उन्होंने सीएम से इस मामले की जांच की मांग की। वहीं इसके बारे में विधानसभा स्पीकर ज्ञानचंद गुप्ता को भी जानकारी दे चुके हैं।

खेल मंत्री ने कहा कि उन्होंने महिला कोच का ट्रांसफर झज्जर कर दिया और वह पंचकूला रहना चाहती थी, इसलिए ऐसे आरोप लगा रही है।

खेल मंत्री के खिलाफ गृह मंत्री विज से मिली 

हरियाणा के खेल मंत्री संदीप सिंह पर छेड़छाड़ के आरोप लगाने वाली कोच ने गृह मंत्री अनिल विज से मुलाकात की है। इस दौरान महिला कोच नेन कहा कि जब खेल मंत्री सलाखों के पीछे होंगे तो और भी ऐसी महिलाएं सामने आएंगी, जिनको प्रताड़ित किया गया है।