ग्रीवांस कमेटी की बैठक में सीएम ने नगर निगम के एक्सईएन ओमदत्त शर्मा को झाड़ा , सैनिक कॉलोनी में रजिस्ट्री व स्टाम्प घोटाले की जांच करेगी विजिलेंस, नागर ने कहा बिल्डरों ने मचाई लूट

Spread the love
फरीदाबाद, 12 जनवरी ( धमीजा ):   मुख्यमंत्री मनोहर लाल आज फरीदाबाद के सैक्टर-12 में आयोजित जिला लोक संपर्क एवं कष्ट निवारण समिति बैठक में सख्त नजर आए। सुनवाई के दौरान जहां उन्होंने आज कई अधिकारियों को डाट पिलाई वहीं अधिकारियों को शिकायतकर्ता की समस्याओं को जल्द से जल्द निपटाने के निर्देश भी दिए। इसी बीच एक परिवाद की सुनवाई के दौरान नगर निगम के एक्सईएन ओम दत्त शर्मा डॉयस पर कमर पर हाथ रख और अकड़ कर खड़े होकर जवाब देने लगे। मुख्यमंत्री ने जब उसकी बॉडी लैंग्वेज देखी तो उन्होंने कहा कि खड़ा होना नहीं आता। कहा से चलकर आए हो, कर्मचारी की तरह खड़े होकर जवाब दो। इसके बाद बैठक का मामला एकदम शांत हो गया।
इसके बाद मुख्यमंत्री ने एक-एक करके सभी परिवादों को सुना। मुख्यमंत्री ने सैनिक कॉलोनी में गलत ढंग से बिल्डिंग बनाने, रजिस्ट्री व स्टैंप मामले में मिली एक शिकायत पर कार्रवाई करते हुए मामले की जांच विजिलेंस को सौंपने के निर्देश दिए हैं।
इसके बाद जे.जे. कैंप निवासी सुभाष मिश्रा ने 1993 में सेक्टर-30 एत्मादपुर में दिए गए भूखंडों पर कब्जा न मिलने की शिकायत पर एचएसवीपी विभाग द्वारा बताया गया कि यहां 388 व्यक्तियों की सूची ऐसी है जिनकी आईडी दिल्ली की थी। इस मामले की जांच की गई और जांच करने के उपरांत 52 आवेदकों की आईडी दिल्ली की पाई गई।इस पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने अगली मीटिंग तक पूरे मामले की जांच कर रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए।
आगरा कैनाल कनेक्टिंग ड्रेन के पानी से खराब हई बादशाहपुर गांव के किसान रामलाल हंस की फसलों की गिरदावरी करवाकर नियमानुसार मुआवजा देने के निर्देश मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने दिए। उन्होंने कहा कि इस मामले में जल्द से जल्द एफएमडीए, एचएसवीपी, हरियाणा सिंचाई विभाग व यूपी सिंचाई विभाग मीटिंग कर कार्रवाई करें। इसके अलावा एसटीपी के पानी का स्तर सुधारने के लिए भी कार्य करें।
मीटिंग में मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने मिथिला नवयुवक संघ द्वारा सोसायटी में गड़बड़ी की शिकायत पर गुरुग्राम के जिला रजिस्ट्रार को ऑपरेटिव सोसायटीज़ को जांच करने के निर्देश दिए।
रोड सेक्रेटरी ओमनी एसोसिएशन के प्रधान देवेंद्र सिंह की शिकायत पर शहर में हादसे वाले ब्लैक स्पॉट चिन्हित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि बदरपुर बॉर्डर से पलवल तक ऐसे स्थान चिन्हित करें। जेसीबी चौक पर फुट ओवरब्रिज स्वीकृत करने पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि यहां एक नए फुट ओवरब्रिज का प्रस्ताव तैयार किया जाए। उन्होंने जलभराव रोकने व स्ट्रीट लाइट के लिए इंटीग्रेटेड प्लान तैयार करने के निर्देश भी दिए।
झाड़सेतली निवासी श्यामलाल की शिकायत पर अनुसूचित जाति श्मशान घाट की जमीन एक्वायर करने के मामले में एसडीएम बल्लभगढ़ को फिजिबिलिटी चेक कर रिपोर्ट देने के लिए कहा। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने अधिकारियों से कहा कि छोटे-छोटे मामले ग्रीवेंस कमेटी में आने से पहले ही अधिकारी अपने स्तर पर उनका समाधान करें, ताकि जनता को परेशानी का सामना न करना पड़े।
इस अवसर पर केंद्रीय राज्य मंत्री कृष्ण पाल गुर्जर, प्रदेश के परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा, विधायक सीमा त्रिखा,नरेंद्र गुप्ता, राजेश नागर, नयन पाल रावत, भाजपा जिलाध्यक्ष गोपाल शर्मा, सीएम के पूर्व राजनैतिक सलाहकार अजय गौड़, सीएम के सुरक्षा सलाहकार अनिल राव, सीएम मीडिया एडवाइजर अमित आर्य, जिला संपर्क एवं कष्ट निवारण समिति के सरकारी व गैर सरकारी सदस्यगण सहित डीसी विक्रम सिंह, पुलिस आयुक्त विकास अरोड़ा, एचएसवीपी प्रशासक गरिमा मित्तल, स्मार्ट सिटी के सीईओ कृष्ण कुमार, नगरनिगम के अतिरिक्त आयुक्त अभिषेक मीणा व एडीसी अपराजिता के साथ अन्य विभागाध्यक्ष मौजूद रहे।
विधायक राजेश नागर ने बिल्डरों की लूट से सीएम को अवगत करवाया 
 तिगांव के विधायक राजेश नागर ने आज सीएम मनोहर लाल के समक्ष अपने क्षेत्र के लोगों की समस्याएं राखी। विधायक नागर ने मुख्यमंत्री को बताया कि ग्रेटर फरीदाबाद में रहने वाले लोग बिल्डरों से परेशान हैं , बिल्डर जनता की गाडी कमाई लूट रहे हैं और बेगलाम हो गए हैं। सीएम मनोहरलाल खट्टर विधायक राजेश नागर के निवास पर चाय पर पहुंचे थे। इसके बाद उन्होंने आसपास के क्षेत्र का मुआयना भी किया। उनके साथ केंद्रीय राज्य मंत्री कृष्णपाल गुर्जर, परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा, राज्यसभा सांसद कार्तिकेय शर्मा, विधायक सीमा त्रिखा, विधायक नरेंद्र गुप्ता, विधायक नयनपाल रावत, भाजपा जिलाध्यक्ष गोपाल शर्मा सहित जिले के आला अधिकारी भी मौजूद रहे। 
विधायक राजेश नागर ने सीएम मनोहर लाल को बताया कि उनके क्षेत्र में ग्रामीण क्षेत्रों और अनियमित कॉलोनियों सहित बड़ी नियोजित क्षेत्र है जिसे निजी बिल्डरों ने विकसित किया है जिनमें सेक्टर और हाईराइज बिल्डिंग शामिल हैं। लेकिन इन बिल्डरों से वहां रहने वाले निवासी बड़े परेशान रहते हैं और मूलभूत सुविधाओं के लिए तरस रहे हैं। इनमें बहुत से मामलों में बिल्डर द्वारा अपने वादों को नहीं निभाया गया है और निवासियों को अपनी मर्जी से चलाने की कोशिश कर रहे हैं। विधायक राजेश नागर ने सीएम को बताया कि बिल्डरों के साथ वह स्वयं कई बार मीटिंग कर चुके हैं लेकिन स्थानीय निवासियों की समस्याओं का निराकरण नहीं हो पा रहा है। इसके अलावा भी विधायक ने अपने क्षेत्र की अन्य बातों को भी सीएम के समक्ष रखा। सीएम मनोहर लाल ने सभी समस्याओं को प्राथमिकता से दूर करने का आश्वासन दिया। उन्होंने टाउन एंड कंट्री प्लानिंग विभाग के निदेशक टीएल सत्यप्रकाश को बिल्डर, विधायक और स्थानीय आरडब्ल्यूए के साथ जल्द बैठक कर हल निकालने की बात कही। यह बैठक जल्द होगी। विधायक राजेश नागर ने बताया कि मीटिंग में लोगों की समस्याओं का हल निकलने के प्रति वह पूरी तरह आशांवित हैं। यदि इसके बाद भी बिल्डर के व्यवहार में बदलाव नहीं आया तो सीएम साहब ने सख्त कार्रवाई करने की बात कही है।