गणतंत्र दिवस के अवसर पर चंडीगढ़ में खालिस्तानी नारे , कुरुक्षेत्र में झंडा फहराने पर मंत्री संदीप सिंह का विरोध , महिला ने किया हंगामा

Spread the love

कुरुक्षेत्र , 26 जनवरी ( धमीजा ) : हरियाणा के कुरुक्षेत्र के पेहोवा में गणतंत्र दिवस पर झंडा फहराने आए मंत्री संदीप सिंह का जोरदार विरोध किया गया तो चंडीगढ़ में खालिस्तान ज़िंदाबाद के नारों की गूँज रही । कुरुक्षेत्र में मंत्री संदीप सिंह के ध्वज फहराते ही एक महिला ने मंच के सामने पहुंच कर हंगामा किया। महिला पुलिस कर्मियों की बजाय पुरुष पुलिस कर्मी बेकाबू महिला को हटाने के लिए उससे दो हाथ करते दिखे। इस बीच राष्ट्र गान भी शुरू हो गया, लेकिन न तो महिला ने हंगामा बंद किया और न ही उसे रोकने वाले सावधान की मुद्रा में खड़े हो पाए।

खालिस्तान ज़िंदाबाद और सिख फॉर जस्टिस के नारों ने किया अलर्ट

गणतंत्र दिवस के मौके पर चंडीगढ़ के सेक्टर 42 स्थित बेअंत सिंह मेमोरियल के बोर्ड के दोनों तरफ खालिस्तान जिंदाबाद और सिख्स फॉर जस्टिस (SFJ) जिंदाबाद के नारे लिखे गए हैं। सेक्टर 42 में जिस जगह यह बोर्ड लगा है उसके पास से मोहाली जाने को रोड गुजरती है। नीले रंग की इंक (स्प्रे) से यह नारे लिखे गए हैं।

बता दें कि चंडीगढ़-मोहाली बॉर्डर पर सिख कैदियों की रिहाई को लेकर आज रोष मार्च भी निकला है। प्रदर्शनकारी पूर्व मुख्यमंत्री बेअंत सिंह के हत्यारे बब्बर खालसा इंटरनेशनल (BKI) के आतंकी जगतार सिंह की भी रिहाई की प्रमुखता से मांग कर रहे हैं।

पुलिस को चकमा दे मंच तक पहुंची महिला 
कुरुक्षेत्र में कार्यक्रम स्थल के बाहर पुलिस ने भारी नाकाबंदी की हुई थी। जहां पर विरोध करने के लिए आए हुए आम आदमी के कार्यकर्ताओं को रोक लिया गया था। लेकिन यह महिला आम आदमी की तरह कार्यक्रम स्थल पर पहुंची और जैसे ही संदीप सिंह ध्वजारोहण करने लगे तो इन्होंने विरोध करना शुरू कर दिया। जहां पर इनको पुलिस के द्वारा गिरफ्तार कर दिया गया।

विरोध कर रही महिला को ले जाया गया थाने

नारनौंद के पेटवाड़ गांव की महिला सोनिया दूहन को पुलिस गिरफ्तार कर थाना ले गई। आरोप है कि इस दौरान महिला के साथ अपरधियाँ की तरह से व्यवहार किया गया। पहले जहां उसे पुरुष पुलिस कर्मियों ने दबोचा, वहं बाद में उसे हाथ पांव पकड़ कर जबरदस्ती गाड़ी में ठूंसा गया। महिला की गिरफ्तारी और उसके साथ पुलिस के व्यवहार को देख लोग भड़क गए और थाने के बाहर ही धरना लगा दिया। बाद में पुलिस ने महिला को छोड़ दिया। महिला अब लोगों के साथ थाने के बाहर धरने पर बैठी है।

एनसीपी से जुड़ी है सोनिया दुहन 
खेल मंत्री संदीप सिंह के कार्यक्रम में हंगामा करने वाली महिला का नाम सोनिया दूहन है। जो नारनौंद हिसार के पेटवाड़ गांव की रहने वाली है। सोनिया राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी( एनसीपी विद्यार्थी) की राष्ट्रीय अध्यक्ष है और दूहन खाप से भी जुड़ी हुई हैं। पुलिस के द्वारा महिला को गिरफ्तार करके पुलिस थाने में ले जाया गया और बाद में छोड़ दिया।

संदीप के साथियों पर अभद्रता का आरोप 

महिला सोनिया ने कहा कि खेल मंत्री संदीप सिंह को शर्म आनी चाहिए। संदीप सिंह पर इतने गंभीर आरोप होने के चलते भी वह गणतंत्र दिवस जैसे बड़े पर्व पर तिरंगा फहराने के लिए पहुंचे हैं। जिन्होंने महिला कोच की इज्जत पर हाथ डाला है, उनको तिरंगा फहराने का अधिकार बिल्कुल नहीं होना चाहिए। उन्होंने कहा कि जब मैं विरोध कर रही थी तो संदीप सिंह के साथियों ने मेरे साथ अभद्रता की और मेरी शाल उतार दी। मैं उनके खिलाफ भी कानूनी कार्रवाई करूंगी।

जूनियर महिला कोच से छेड़छाड़ के आरोपों का सामना कर रहे मंत्री संदीप सिंह पेहोवा में गणतंत्र दिवस समारोह में झंडा फहराने आए थे। खाप पंचायतों और अन्य संगठनों ने उनके विरोध का ऐलान किया था। आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता सुबह ही पेहोवा के मुख्य चौक पर इकट्ठा होने शुरू हो गए थे। विरोध को देखते हुए पेहोवा मे भारी संख्या में पुलिस तैनात की गई थी।