आंदोलनरत किसान की मौत:टीकरी बॉर्डर पर डेरा डाले जत्थे में पंजाब के एक और किसान की जान गई , अब तक तीन किसानों की हुई मौत 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

दिल्ली , 30 नवंबर।  कृषि कानूनों को रद्द करवाने की मांग लेकर यहां के टीकरी बॉर्डर पर डेरा डाले जत्थे में शामिल पंजाब के एक किसान की रविवार रात मौत हो गई। इसका कारण हार्टअटैक माना जा रहा है, लेकिन एक कारण ठंड भी हो सकता है। परिचितों की तरफ से बताया जा रहा है कि जुलाना में हुई पानी की बौछार के कारण वह 3 दिन से बीमार थे। सूचना मिलते ही पुलिस पहुंची और कार्रवाई शुरू की गई। शव को सिविल अस्पताल में रखवाया गया है। बता दें कि तीसरे आंदोलनकारी किसान की मौत है, वहीं पिछले 24 घंटे में दूसरी जान चली गई।

मृतक की पहचान लुधियाना का भगवानपुरा के रहने वाले 50 साल के गज्जन सिंह के रूप में हुई है। गज्जन सिंह बहादुरगढ़ बाईपास पर नए बस स्टैंड के पास ही था। रात को लघुशंका के लिए सड़क से कुछ कदम दूर गए थे, वहीं पर गिर गए। आसपास मौजूद किसानों ने उन्हें संभाला और अचेत अवस्था में शहर के जीवन ज्योति अस्पताल में लेकर गए। अस्पताल में डॉक्टर्स ने किसान गज्जन सिंह को मृत घोषित कर दिया। इस घटना की सूचना के बाद सेक्टर-9 चौकी से पुलिस टीम पहुंची।

भाकियू नेताओं ने पोस्टमार्टम करवाने से पहले सरकार के सामने चार मांग रखी हुई हैं। ये पूरी होने के बाद ही पोस्टमॉर्टम करवाने और शव लेने की बात कही थी। अब जत्थे में एक और मौत से पुलिस-प्रशासन पशोपेश में है। पुलिस का कहना है कि दोनों ही मौत इत्तफाक से हुई हैं, इसमें किसी का दोष नहीं है।

उधर, गज्जन सिंह के भतीजे और परिवार के अन्य लोगों ने सरकार से मुआवजे की मांग व किसान की हत्या के आरोप में मुख्यमंत्री, हरियाणा के चीफ सेक्रेटरी में हरियाणा के DGP तीनों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज करने की मांग की है परिवार के लोगों ने गुंजन सिंह के शव को लेने से भी मना कर दिया। उनका कहना है कि जब तक सरकार हमारी यह मांग नहीं मानती, हम गज्जन सिंह के शव का अंतिम संस्कार नहीं करेंगे। चौकी प्रभारी विनोद कुमार ने बताया कि परिजनों के बयान के बाद पोस्टमार्टम करवाया जाएगा।

आंदोलनरत किसानों में तीसरी मौत

बता दें कि राज्य में अब तक आंदोलनरत 3 किसानों की जान जा चुकी है। दो दिन पहले भिवानी में एक जत्थे में शामिल किसान की सड़क हादसे में मौत हो गई थी, वहीं शनिवार रात को बहादुरगढ़ में बाईपास पर सर्विस लेन में खड़ी मैकेनिक की गाड़ी में आग लग गई थी। इससे उसके अंदर सो रहे मैकेनिक के सहायक जनकराज की जिंदा जलने से मौत हो गई थी। अब रविवार देर रात पंजाब के किसान गज्जन सिंह की सांसें थम गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *