पलवल से पृथला होते हुए सीकरी पहुंचा किसानों का जत्था , कल चलेगा बदरपुर बॉर्डर की ओर :UP और MP से आए किसानों को पुलिस ने पलवल में रोक रखा है

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
फरीदाबाद , 4 दिसंबर।   नए कृषि कानूनों को लेकर आंदोलन करने उतरे किसान शुक्रवार को बल्लभगढ़ के निकट सीकरी पहुँच गए हैं और वहाँ पड़ाव डाला है।  कल शनिवार को ये किसान दिल्ली जाने के लिए बदरपुर बॉर्डर की और कूच करेंगे । मध्यप्रदेश व उतर प्रदेश से आये  किसानो को पलवल और फरीदाबाद की पुलिस ने उन्हें रोका तो टकराव हो गया। इसके बाद वहाँ से आए किसान पलवल में ही धरना लगाकर बैठ गए। भारतीय किसान यूनियन के सचिव एवं किसान नेता रतन सिंह सोरोत  का कहना है कि वह पलवल से पैदल शांतिपूर्वक मार्च करते हुए दिल्ली की ओर जाने का प्रयास कर रहे हैं, लेकिन पुलिस ने उन्हें सीकरी में ही बेरीगेट लगाकर रोक दिया। उनका साफ कहना है कि वह शांतिपूर्वक तरीके से अपनी बात रखने के लिए दिल्ली जा रहे हैं, लकिन पुलिस किसी भी सूरत में उन्हें रोक नहीं सकेगी।

उधर सीकरी  पहुंचे किसानों को फरीदाबाद  में प्रवेश करने से पुलिसबल ने रोक दिया। इससे पुलिस और किसानों के बीच काफी झड़प भी हुई। किसानों से पुलिस बार-बार समय लेती रही, लेकिन जब पुलिस अधिकारियों की तरफ से कोई फैसला नहीं हो सका तो किसान पुलिस के बैरिकेड व नाकों को तोड़ते हुए फरीदाबाद की सीमा में सीकरी तक प्रवेश कर गए। जबकि मध्य प्रदेश के ग्वालियर से आ रहे किसानों के जत्थे को पलवल के एसपी दीपक गहलावत ने केएमपी-केजीपी चौक पर रोक दिया। जिसके बाद एमपी के किसान हाईवे पर ही धरना देकर बैठ गए। जिसके बाद पुलिस ने हाईवे को वन-वे कर दिया।

 कृषि कानून के विरोध में किसान-मजदूरों का आक्रोश बढ़ता ही जा रहा है। इसी के चलते शुक्रवार  को पलवल जिले से भी सैकड़ों की तादाद में किसान दिल्ली के लिए रवाना हुए। हालांकि, पुलिस प्रशासन की तरफ से आंदोलनकारियों को रोकने के कड़े इंतजाम किए गए थे, लेकिन किसानों की नाराजगी के आगे ये नाकाफी ही पड़ गए। पुलिस ने जत्थे को आगे जाने से रोकने के लिए वाटर कैनन सहित सभी इंतज़ामात किए हुए थे। पलवल के एसपी दीपक गहलावत पुलिस बल का नेतृत्व कर रहे थे। किसानों को पुलिस ने रोककर बात की तो किसानों ने कहा कि वो किसी भी कीमत पर दिल्ली से पहले रुकने वाले नहीं हैं। आखिर माहौल खराब होने के डर से एसपी ने उन्हें आगे जाने की अनुमति दे दी। दूसरी ओर फरीदाबाद से दिल्ली की तरफ एंट्री करने वाले सभी बॉर्डर पर भी हालात तनावपूर्ण बने हुए हैं।

किसानों का नेतृत्व स्वामी श्रद्धानंद सरस्वती, किसान नेता रतन सिंह सौरोत, महेंद्र सिंह चौहान, डॉ. महावीर सिंह मलिक दीघौट, नरवीर दलाल किठवाड़ी, सुरेंद्र प्याला, देवेंद्र नयागांव, रणवीर हरफली, मंडी एसोसिएशन के प्रधान गौरव तेवतिया, उदय सिंह फिरोजपुर व बाबू बोहरा जाजरू सहित सैकड़ों किसान शामिल रहे । किसानों को पुलिस ने रोककर बात की तो किसानों ने कहा कि वे किसी भी कीमत पर दिल्ली से पहले रुकने वाले नहीं है। जिसके बाद एसपी ने उन्हें आगे जाने की अनुमति दे दी और किसानों का जत्था आगे के लिए रवाना हो गया।

गुरुवार को  किसानों का जत्था पलवल से पृथला पहुंचा, पृथला में रात्रि ठहराव के बाद शुक्रवार को फरीदाबाद के सीकरी पहुंचा है और कल सुबह  दिल्ली के लिए रवाना होगा। किसानों के पैदल जत्थे के साथ-साथ ट्रैक्टर-ट्राली भी चल रही है। शनिवार  को किसानों का जत्था दिल्ली पहुंचकर आंदोलन कर रहे किसानों को अपना समर्थन देकर वहीं धरने पर बैठेगा।

फरीदाबाद से दिल्ली की तरफ एंट्री करने वाले सभी बॉर्डर पर भी हालात तनावपूर्ण बने हुए हैं।  सीकरी और बदरपुर बॉर्डर पर पहुंचकर पुलिस आयुक्त OP सिंह ने हालात का जायजा लिया। उन्होंने  पुलिसकर्मियों को संबोधित कर आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। दरअसल, पुलिस कमिश्नर को पलवल की तरफ से मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश के किसानों का दल दिल्ली की तरफ बढ़ने की सूचना मिली थी। कमिश्नर सिंह ने कहा कि पूरा ध्यान रखा जाए-कोई भी शरारती तत्व आंदोलन की आड़ में माहौल ना बिगाड़ पाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *