महापौर दुव्र्यवहार मामले में एसडीओ सुरेंद्र खट्टर सस्पेंड, गृह मंत्री ने मांगी रिपोर्ट

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

फरीदाबाद, 24 फरवरी : नगर निगम के एसडीओ सुरेंद्र खट्टर को महापौर सुमन बाला के साथ दुव्र्यवहार के मामले में निलंबित कर दिया गया है। शहरी स्थानीय निकाय विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव एसएन राय की ओर से बुधवार शाम इस बाबत आदेश जारी किए गए हैं। नगर निगम पार्षद बुधवार को इस मुद्दे पर महापौर के आवास पर एकत्र हुए थे और अधिकारियों की कार्यप्रणाली पर गुस्सा जाहिर किया था। पार्षद जसवंत सिंह, महेंद्र सिंह, सुरेंद्र अग्रवाल, बीर सिंह नैन, जयवीर खटाना और ललिता यादव ने कहा कि अधिकारी मनमानी करते हैं और जनप्रतिनिधियों की सुनवाई नहीं होती।
गौरतलब है कि बीते कल मंगलवार को महापौर सुमन बाला स्वच्छ भारत मिशन (एसबीएम) एसडीओ सुरेंद्र खट्टर के साथ पांच नंबर क्षेत्र में शौचालयों की दशा का जायजा लेने के लिए पहुंची थीं। शौचालयों में न पानी था और न ही सीवर कनेक्शन जोड़ा गया था। इस पर महापौर सुमन बाला ने एसडीओ सुरेंद्र खट्टर से जवाब मांगा, तो उनके साथ दुव्र्यवहार किया गया। महापौर लंबे समय से शहर के शौचालयों की दुर्दशा के मुद्दे पर खफा चल रहीं थीं। उनके पास लगातार शिकायतें आ रहीं थीं कि शौचालयों की दशा ठीक नहीं है। अधिकारी सुनते नहीं हैं।
महापौर सुमन बाला कई दिनों से एसबीएम की टीम के साथ फील्ड में जाना चाहती थीं, मगर सुरेंद्र खट्टर अनसुनी कर रहे थे। बाद में महापौर सुमन बाला ने अतिरिक्त निगमायुक्त इंद्रजीत सिंह से इस बारे चर्चा की। अतिरिक्त निगमायुक्त इंद्रजीत सिंह के कहने के बाद सुरेंद्र खट्टर महापौर के साथ फील्ड में जाने को तैयार हुए। फील्ड में जाकर जब शौचालयों की बुरी हालत मिली, तो महापौर ने नाराजगी जताई। इस पर एसडीओ ने संतोषजनक जवाब नहीं दिया, बल्कि महापौर के साथ दुव्र्यवहार किया गया। महापौर ने मंगलवार को ही इस मामले में निगमायुक्त यशपाल यादव को लिखित में अवगत करा दिया था।
बाद में यशपाल यादव ने सारी स्थिति से सरकार को अवगत करा दिया था। गृह मंत्री अनिल विज ने भी मामले को गंभीरता से लिया। उन्होंने महापौर सुमन बाला से बातचीत कर सारी स्थिति की जानकारी ली। आखिरकार फिर बुधवार शाम को ही एसडीओ सुरेंद्र खट्टर के निलंबन के आदेश जारी कर दिए गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *