हरियाणा में बड़ी संख्या में ब्लैक फंगस के मरीज़ों के आने का अंदेशा , सरकार ने घोषित की अधिसूचित बीमारी

Spread the love

चंडीगढ़ , 15  मई। हरियाणा में कोरोना से ठीक होने वाले मरीज़ों की आँखों की रोशनी  जाने की ख़बरें आने लगी हैं । ब्लैक फंगस नामक बीमारी कोरोना से ठीक होने वाले मरीज़ों को तेज़ी से घेर रही है , इससे मरीज़ों के आँखों की रोशनी चली जाती है और दिखना बंद हो जाता है। हरियाणा में ऐसे लाखों मरोज़ों के आने का अंदेशा है , जिसके मद्देनज़र सरकार ने इसे अधिसूचित बीमारी घोषित कर दिया है। स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने ट्वीट करके यह जानकारी दी। क्योंकि प्रदेश में ब्लैक फंगस के कई मामले सामने आ चुके हैं और अब नए मामले मिलने पर डॉक्टर जिले के CMO को रिपोर्ट करेंगे।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की रिपोर्ट के अनुसार, हरियाणा में 10.4 प्रतिशत लोग शुगर के मरीज हैं यानी 2.86 करोड़ की आबादी में 30 लाख 30 हजार लोगों पर ब्लैक फंगस का खतरा मंडरा रहा है। इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च व अन्य हेल्थ विशेषज्ञ यह कह चुके हैं, जो शुगर के मरीज हैं, उन पर ब्लैक फंगस का खतरा सबसे अधिक है।

क्योंकि शुगर के मरीजों की रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर रहती है। प्रदेश में अभी 50 से ज्यादा केस सामने आए हैं। इनमें 27 मरीज रोहतक पीजीआई में पहुंचे हैं। 6 हिसार के अग्रोहा मेडिकल कॉलेज में भर्ती हैं। गुरुग्राम में भी एक निजी अस्पताल में 10 मरीज भर्ती हो चुके हैं।