पड़ोसी के जर्मन शैफर्ड कुते ने ले ली 40 वर्षीय युवक की जान

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

फरीदाबाद, 28 जून ( धमीजा) : सैनिक कॉलोनी में पड़ोसी के पालतू  कुते से बचने के चक्कर में एक युवक की तीसरी मंजिल से गिरकर मौत हो गई। म्रुतक युवक गिरीश इंश्योरेंस कंपनी में काम करता था। फरीदाबाद पुलिस ने मृतक के पिता की शिकायत पर कुत्ता मालिक के खिलाफ  लापरवाही से मौत की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है।
मिली जानकारी के मुताबिक, फरीदाबाद की सैनिक कॉलोनी के ही साथ लगते अचीवर्स कॉलोनी की सोसाइटी में गिरीश माथुर परिवार सहित छठी मंजिल पर रहते हैं। उन्होंने बताया कि उनका 40 वर्षीय  बेटा समीर माथुर 40 रविवार को घर पर ही था। वह किसी काम से बाहर जा रहा था। इसी क्रम में वह घर से बाहर निकलकर सीढिय़ों से उतरकर नीचे जा रहा था। चौथी मंजिल पर पहुंचा तो वहां रहने वाले संजीव भदौरिया का जर्मन शैफर्ड कुत्ता समीर के पीछे पड़ गया। इस दौरान कुत्ते से बचने के लिए समीर नीचे की तरफ  भागा।German Shepherd - Wikipedia

गिरीश माथु का कहना है कि कुत्ते से बचने के दौरान संतुलन बिगडऩे के कारण समीर तीसरी मंजिल से नीचे गिर गया। खून से लथपथ समीर को इलाज के लिए सेक्टर -21 स्थित एशियन अस्पताल ले जाया गया। वहां इलाज के दौरान उसने दम तोड़ दिया। फरीदाबाद पुलिस ने गिरीश माथुर की शिकायत पर संजीव भदौरिया के खिलाफ लापरवाही की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया है।
गौरतलब है कि जर्मन शेफर्ड को पुलिस व सेना के कुत्तों के रूप में जाना जाता है। जानकारों की मानें तो जर्मन शेफर्ड दुनिया के 10 सबसे खतरनाक कुत्तों में से एक होता है। सामान्य तौर पर यह लोगों पर 108 किलो के दबाव से अटैक करता है, जिसके बाद बच पाना मुश्किल होता है। जर्मन शेफर्ड का आमतौर पर वजन 30 से 40 किलो के बीच होता है। यह जानलेवा हो जाता है, ऐसे में कई देशों में इसे पालने पर प्रतिबंध है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *