डी एस ढेसी बने सीएम कार्यालय में सबसे पावरफुल , प्रदेश सरकार के विभागों का वितरण

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
चंडीगढ़ , 9 जुलाई ( धमीजा ) : हरियाणा में पिछले समय के दौरान नए विभागों के अस्तित्व में आने के बाद मुख्यमंत्री कार्यालय के अधिकारियों को नए सिरे से विभाग आबंटित कर दिए गए हैं। मुख्यमंत्री कार्यालय में मुख्यमंत्री के चीफ प्रिंसिपल सेक्रेटरी डीएस ढेसी (सेवानिवृत्त आईएएस) सबसे पावरफुल होंगे।
पिछले करीब एक साल में चार बार सीएमओ का कार्य विभाजन हो चुका है। 20 अक्तूबर, 2020 के बाद पहली दिसंबर, 2020 को नये सिरे से वर्क अलॉट हुआ। इसके बाद 30 जनवरी, 2021 तथा 11 फरवरी, 2021 को कार्य विभाजन हुआ था। सभी प्रकार के विधायी मामलों के अलावा मंत्रिमंडल, आर्डिनेंस, संसदीय कार्य मामल तथा विधायी कार्यों का जिम्मा चीफ प्रिंसिपल सेक्रेटरी डीएस ढेसी के पास रहेगा।
सरकार द्वारा नए बनाए गए सिटीजन रिसोर्स इंफोरमेशन डिपार्टमेंट की कमान भी ढेसी के पास रहेगी। इसके अलावा आबकारी एवं कराधान, सिंचाई, सामान्य प्रशासन, प्रशासनिक सुधार एवं ट्रेनिंग, अतिथ्य सत्कार, विजिलेंस, गृह, सीआईडी, जेल, टाउन एंड कंट्री प्लानिंग, शहरी स्थानीय निकाय, विदेश सहयोग, उद्योग, इलैक्ट्रॉनिक्स एंड इंफोरमेशन टेक्नोलॉजी, वित्त विभाग के अलावा ढेसी सीएम ऑफिस के ओवरआल इंचार्ज होंगे।
मुख्यमंत्री कार्यालय की स्थापना शाखा के अलावा वे उन सभी विभागों को देखेंगे, जिनका कार्यभार किसी अधिकारी को नहीं दिया है। इसी तरह से सीएम के प्रधान सचिव वी़ उमाशंकर को अक्षय उर्जा, राजस्व एवं आपदा प्रबंधन, विज्ञान एवं तकनीकी, परिवहन, खनन एवं भूविज्ञान तथा नागरिक उड्डयन विभाग को जिम्मा सौंपा है। सीएम के अतिरिक्त प्रधान सचिव योगेंद्र चौधरी को सीएमओ की वरिष्ठता सूची में तीसरे नंबर पर रखा गया है।
योगेंद्र चौधरी को कला एवं संस्कृति मामले, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता, पर्यटन, अनुसूचित जाति एवं पिछड़ा वर्ग कल्याण मामले, पशुपालन एवं डेयरी विकास, कौशल विकास एवं औद्योगिक प्रशिक्षण विभाग की कमान रहेगी। ड्रग फ्री हरियाणा मिशन के प्रोजेक्ट डायरेक्टर भी योगेंद्र चौधरी होंगे। रिसोर्स मोबलाइजेशन से जुड़े मामले भी योगेंद्र चौधरी ही देखेंगे। सीएम के अतिरिक्त प्रधान सचिव तथा पब्लिक रिलेशन डिपार्टमेंट के डायरेक्टर डॉ़ अमित अग्रवाल भी सीएमओ में पावरफुल अधिकारियों में शामिल हैं।
अग्रवाल को आयुष, हेल्थ, चिकित्सा शिक्षा, उच्चतर शिक्षा, स्कूल एजुकेशन, तकनीकी शिक्षा, विकास एवं पंचायत, वन एवं वन्य जीव, श्रम एवं रोजगार तथा बिजली मंत्रालय की जिम्मेदारी मिली है। सीएम की अतिरिक्त प्रधान सचिव आशिमा बराड़ के पास अभिलेखागार, पुरातत्व एवं संग्रहालय, आर्किटेक्चर, चुनाव, पर्यावरण, खाद्य एवं आपूर्ति, मत्स्यन पालन, हाउसिंग, जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी, प्रिंटिंग एंड स्टेशनरी, खेल एवं युवा मामले, महिला एवं बाल विकास, पीडब्ल्यूडी (भवन एवं सडक़ें), कृषि, सहकारिता, सैनिक व अर्धसैनिक जड़े बड़े विभागों की जिम्मा मिला है।
सीएम के प्रिंसिपल ओएसडी नीरज दफ्तुआर के पास पहले की तरह पब्लिक रिलेशन डिपार्टमेंट बना रहेगा। वहीं सीएम के ओएसडी (एचसीएस) सतीश कुमार को मुख्यमंत्री की घोषणाओं, सीएम रिलीफ फंड, वक्फ बोर्ड के अलावा एफआरडीएस की जिम्मेदारी दी गई है। सीएम के ओएसडी भूपेश्वर दयाल को ग्रीवेंस दी गई हैं। वह सीएम विंडो पर आने वाली शिकायतों का निपटारा करेंगे। सीएम के चौथे ओएसडी (एचसीएस) सुधांशु गौतम को बदलियों का जिम्मा सौंपा है। इससे पहले सीएमओ में तबादलों का कामकाज सतीश कुमार के पास था। ऑनलाइन ट्रांसफर पॉलिसी भी सुधांशु गौतम देखेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *