हिमाचल में मानसून का रौद्र रूप: धर्मशाला में फटा बादल, तेज धारा में बह गए कई वाहन

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

धर्मशाला, 12 जुलाई ( धमीजा ) : हिमाचल के धर्मशाला में मानसून ने रौद्र रूप धारण कर लिया है। पर्यटन क्षेत्र भागसू में सोमवार सुबह बादल फटने से अचानक भयंकर बाढ़ आ गई।  देखते ही देखते एक छोटे स नाले ने नदी का रूप धारण कर लिया। इस नाले में उफान  के कारण तेज धारा में कई कारें व भारी वाहन तक बह गए. वहाँ जाने वाले पर्यटकों के लिए फिर से ये चेतावनी है , कोरोना के काम होते ही लोगों की भीड़ मानसून के समय में हिल स्टेशनों की और भागने लगे हैं। इससे जहां कोरोना की तीसरी लहर को बुलावा यानी निमंत्रण देने का काम ये पर्यटक कर रहे हैं , वहीँ प्रकृति ने भी  खतरे का इशारा किया है।
इस नाले के साथ दोनों ओर कई होटल भी लगते हैं. बादल फटने से इन होटलों को भी नुकसान पहुंचा है. वहीं, स्थानीय लोग बादल फटने और उसके बाद नदी-नालों में ऊफान आने के कारण सहमे हुए हैं. भागसू में इस वक़्त अफरा-तफ़री का माहौल है. सोशल मीडिया पर मौके का वीडियो भी वायरल हो रहा है. वीडियो में साफ देखा जा सकता है पानी का तेज बहाव गाड़ियों को बहाते हुए ले जा रहा है.

 मॉनसून ने हिमाचल में रौद्र रूप दिखाया है. बीते चौबीस घंटे में बारिश ने जमकर तबाही मचाही है. हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिले में सबसे ज्यादा नकुसान हुआ है. यहां कई घर और गाड़ियां बह गयी हैं. प्रदेश में सैंकड़ों सड़कें बंद हैं. मिली जानकारी के अनुसार, लेह-मनाली हाईवे, औट-लूहरी-रामपुर हाईवे, शिमला-किन्नौर हाईवे लैंडस्लाइड के चलते बंद हो गए हैं.
हिमाचल में तीन दिन के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है. इसी कड़ी में रविवार रात को ही प्रदेश में मूसलाधार बारिश शुरू हो गई, जो सुबह लगातार 9 घंटे तक होती रही. कांगड़ा जिले में तो कई जगह पर बादल फटे हैं. यहां खड्डे ऊफान पर हैं. धर्मशाला के मैक्लोडगंज के पास भागसूनाग में नाले में उफान आने पर सड़क पर पानी का तेज बहाव आग गया, जिससे पार्किंग में गाड़ियां बह गईं. कई गाड़ियां क्षतिग्रस्त हो गई हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *