नए सत्र से शिक्षकों की भारी कमी: दिल्ली नगर निगम

0
21
school

नई दिल्ली । पूर्वी दिल्ली नगर निगम के स्कूलों में नए सत्र से शिक्षकों की भारी कमी होने वाली है। निगम के 343 शिक्षकों की पदोन्नति हो गई है और ये दिल्ली सरकार के स्कूलों में जाएंगे। इन शिक्षकों को मार्च की शुरुआत में ही दिल्ली सरकार के स्कूलों में जाना था, लेकिन सत्र समाप्ति तक इन्हें रोक लिया गया है। निगम के स्कूलों में पहले से करीब 200 शिक्षकों की कमी है।

अब 343 शिक्षकों के जाने से संतुलन बिगड़ जाएगा और शिक्षा व्यवस्था भी प्रभावित होगी। कई स्कूलों में प्रधानाचार्य भी नहीं हैं। इन स्कूलों में वरिष्ठ शिक्षकों को प्रभारी बनाया गया है। पूर्वी दिल्ली नगर निगम के स्कूलों में कार्यरत बीएड करने वाले शिक्षकों ने पदोन्नति के लिए आवेदन किया था, जिसमें से 343 का चयन किया गया।

कागजी कार्रवाई पूरी कर इन शिक्षकों को मार्च के पहले सप्ताह में दिल्ली सरकार के स्कूलों में अध्यापन कार्य शुरू करना था, लेकिन अचानक शिक्षक कम हो जाने से दिक्कत हो जाती, इस कारण निगम के शिक्षा विभाग ने आग्रह किया कि इन शिक्षकों को सत्र समाप्त होने तक रोक लिया जाए।

वहीं निगम की ओर से अब तक शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया शुरू नहीं हो पाई है। डीएसएसएसबी ने शिक्षकों की भर्ती की जो प्रक्रिया शुरू की थी, उसमें सवालों को लेकर विवाद हो गया था। उसके बाद यह मामला अदालत पहुंच गया है।

इस कारण भर्ती प्रक्रिया पूरी होने में समय लगने की आशंका है। इस स्थिति में पूर्वी निगम के स्कूलों में नए सत्र से शिक्षकों की भारी कमी हो जाएगी। अनुबंध पर शिक्षक रखने की प्रक्रिया में भी वक्त लगता है और अब तक यह प्रक्रिया भी शुरू नहीं हुई है। कुछ दिनों बाद चुनाव आचार संहिता भी लागू होने वाली है

अधिकारी का पक्ष
विभाग इस समस्या से वाकिफ है। बच्चों की पढ़ाई बाधित न हो, इसके लिए प्रयास किए जा रहे हैं। दिल्ली सरकार के शिक्षा विभाग से बातचीत की जा रही है। स्थायी भर्ती न होने की स्थिति में अनुबंध पर शिक्षकों की संख्या बढ़ाई जाएगी।

लेफ्टिनेंट कर्नल एके सिंह, निदेशक शिक्षा विभाग, पूर्वी निगम

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here