आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन के दोषी, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और बीएसपी सुप्रीमो मायावती के लिए चुनावी मुहिम पर रोक लगा दी है.

0
29

Haryana:  चुनाव आयोग उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और बीएसपी सुप्रीमो मायावती के सांप्रदायिक बयान को लेकर बड़ी कार्रवाई की है. चुनाव आयोग ने योगी आदियत्यनाथ पर 3 दिन और मायावती पर 2 दिन के लिए चुनाव प्रचार, भाषण और बयानबाज़ी करने पर रोक लगाई है. दोनों नेताओं पर चुनाव आयोग का प्रतिबंध 16 अप्रैल सुबह 6 बजे से लागू होगा.

चुनाव आयोग ने दोनों ही नेताओं को आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन के आरोप में दोषी पाया है. उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ पर 72 घंटे के लिए चुनावी मुहिम पर रोक लगा दी है. आयोग के फैसले के मुताबिक योगी कल सुबह 6 बजे अगले 72 घंटों के लिए न तो चुनाव प्रचार, न रोड शो या कोई इंटरव्यू नहीं दे पाएंगे. ठीक इसी तरह मायावती भी कल सुबह 6 बजे से अगले 48 घंटे के लिए चुनाव प्रचार, रोड शो या कोई इंटरव्यू नहीं दे सकती.

बता दें कि मायावती ने पहले चरण के चुनाव से सहारनपुर में एक रैली के दौरान 7 अप्रैल को मुस्लमानों के मतदान को लेकर सांप्रदायिक बयान दिया था. ठीक इसी तरह योगी आदित्यनाथ ने भी 9 अप्रैल को अपनी सभा के दौरान सांप्रदायिक बयान दिया. दोनों नेताओं के बयानों की शिकायत चुनाव आयोग से की गई थी.

चुनाव आयोग ने उन्हीं शिकायतों पर एक्शन लेते हुए मायावती और योगी आदित्यनाथ को नोटिस दिया था. नोटिस का जवाब मिलने के बाद चुनाव आयोग ने दोनों नेताओं को आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन का दोषी पाते हुए ये बैन लगाया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here