अब हॉस्पिटलों पर लगेगी लगाम , नहीं वसूल पाएंगे मनमाने पैसे

0
149
hospital

फरीदाबाद । हरियाणा में अब निजी अस्‍पताल मरीजों से इलाज के नाम पर मनमानी और मोटी रकम नहीं वसूल पाएंगे। अब हर इलाज की दर तय होगी और चिकित्‍सा की गुणवत्‍ता की भी अस्‍पतालों को पालन करना होगा। राज्‍य में क्लीनिकल एस्टेब्लिशमेंट एक्ट 2010 इसी सप्ताह लागू हो जाएगा। इसके तहत इसी सप्ताह से 50 बेड या इससे अधिक वाले अस्पतालों का रजिस्ट्रेशन भी शुरू कर दिया जाएगा। इस एक्ट के तहत रजिस्ट्रेशन नहीं करवाने वालों पर पांच लाख रुपये तक का जुर्माना लगाया जाएगा।

केंद्र सरकार ने तो अगस्त 2010 में ही क्लीनिकल इस्टेब्लिशमेंट एक्ट बना दिया था। भूपेंद्र सिंह हुड्डा के नेतृत्व में राज्य सरकार ने बिल पास भी कर दिया पर लागू नहीं हुआ। मनोहरलाल  सरकार ने पहल की तो विरोध हुआ। निजी अस्‍पताल संचालकों ने इस एक्‍ट को लागू करने के विरोध में हड़ताल भी की थी।

आइएमए व अन्य संगठनों ने परेशानियां बताईं तो सरकार ने छोटे अस्पतालों को कानून के दायरे से बाहर कर दिया। यद्यपि केंद्रीय कानून में 50 बेड से कम के अस्पतालों को छूट का कोई प्रावधान नहीं है। ऐसी सुविधा सिर्फ कर्नाटक में है। विज ने नियम और इससे जुड़ी तमाम जानकारियां वेबसाइट पर अपलोड करने के आदेश दिए। इसके लिए क्लीनिकल इस्टेब्लिशमेंट कौंसिल भी एक साल में बना दी जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here