प्रियंका गांधी 14 मार्च से लोकसभा चुनाव के लिए प्रचार अभियान की शुरुआत करेंगी.

0
76

कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी 14 मार्च से 2019 के लोकसभा चुनाव के लिए प्रचार अभियान की शुरुआत करेंगी. सूत्रों के अनुसार, वे लखनऊ से अपने प्रचार अभियान की शुरुआत करेंगी. वे कांग्रेस के प्रत्याशियों के चयन में भी भाग लेंगी. प्रियंका गांधी को पूर्वी उत्‍तर प्रदेश की जिम्‍मेदारी भी दी गई है.

कांग्रेस पार्टी ने उत्तर प्रदेश में खुद को मजबूत करने के लिए चुनाव प्रचार की रणनीति में बड़ा बदलाव किया है. ताजा रणनीति के तहत यूपी की प्रभारी प्रियंका गांधी और ज्योतिरादित्य सिंधिया बड़ी चुनावी रैलियां कम करेंगे. दरअसल पार्टी का मानना है कि रैली में वक्त और पैसा ज्यादा खर्च होता है.

वहीं जनता से सीधा जुड़ाव नहीं हो पाता, इसलिए प्रियंका और ज्योतिरादित्य नुक्कड़ सभा, मोहल्ला सभा, चौपाल और रोड शो ज्यादा करेंगे. पार्टी की रणनीति बड़ी सभाओं के बजाए छोटे प्रोग्राम कर करीब से और पुख्ता तरीके से अपनी बात जनता के बीच रखने की है. यही नहीं रोड शो का रूट ऐसा रखा जाएगा ताकि एक लोकसभा क्षेत्र का ज्यादा से ज्‍यादा हिस्सा कवर हो जाए.

यूपी कांग्रेस के प्रवक्ता हिलाल नकवी ने बातचीत में कहा, ‘अभी तक यूपी में चुनाव प्रचार का आधिकारिक रोड मैप तैयार नहीं किया गया है, लेकिन इतना जरूर कहा जा सकता है कि प्रचार करने के तरीके में थोड़ा बदलाव होगा.’ नकवी ने कहा कि 2019 के चुनाव में पार्टी ने बड़ी रैलियों को कम करने का निर्णय लिया है, क्योंकि पार्टी का रूख साफ है, ज्यादा से ज्यादा जनता से सीधा जुड़ाव करना.

नकवी कहते हैं कि यूपी की प्रभारी प्रियंका गांधी और ज्योतिरादित्य सिंधिया 80 लोकसभा क्षेत्रों में कोई बड़ी रैली नहीं करेंगे. पार्टी का मानना है कि रैली में वक्त और पैसा ज्यादा खर्च होता है. वहीं जनता से सीधा जुड़ाव नहीं हो पाता.

कांग्रेस प्रवक्ता के मुताबिक प्रियंका गांधी और ज्योतिरादित्य सिंधिया नुक्कड़ सभा, मोहल्ला सभा, चौपाल और रोड शो ज्यादा करेंगे. ब्लॉक स्तर पर नुक्कड़ सभा, मोहल्ला, कॉलोनी या वार्ड स्तर पर मोहल्ला सभा और कुछ बूथों के एरिया को मिलाकर चौपाल करेंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here