रविदास समाज के बंद से पंजाब ‘जाम’, बाजार बंद व बसें भी नहीं चल रही, आतंकी खतरे से हाई अलर्ट

0
68

Haryana: सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर दक्षिणी दिल्ली में श्री गुरु रविदास जी का मंदिर गिराने के विरोध में रविदास समाज पंजाब बंद किया है। इसका पंजाब के कई जिलों में व्‍यापक असर हुआ है और सड़क यातायात बुरी तरह प्रभावित हुआ है। रविदास समाज विभिन्‍न जगहों पर प्रदर्शन कर रहे हैं और सड़कों पर धरना दे रहे हैं। कई जगह बाजार बंद हैं। अधिकतर स्‍थानों पर स्‍कूल बंद हैं और यातायात ठप हो गया है। पहले कहा गया था कि यातायात को जाम नहीं किया जाएगा, लेकिन प्रदर्शनों के कारण बसों के पहिये थम गए हैं। इससे यात्रियों को भारी परेशानी हो रही है।

दूसरी ओर, इस बंद के दौरान प्रदर्शन में आतंकियों की घुसपैठ की आशंका जताई गई है। इस कारण राज्‍य में हाई अलर्ट जारी किया गया है। पूरे राज्‍य में सुरक्षा के बेहद कड़े इंतजाम किए गए हैं। पांच जिलों में स्‍कूलों को बंद रखा गया है। राज्‍य में पांच हजार अतिरिक्‍त पुलिस के जवान तैनात किए गए हैं। राज्‍य में अधिकतर स्‍थानों पर सुबह से बाजार बंद हैं। पठानकोट सहित कई जगहों पर रविदास समाज के लोग प्रदर्शन कर रहे हैं।

जालंधर में पठानकोट हाईवे पर रविदास भाईचारे के लोग प्रदर्शन कर रहे हैं। रविदास समुदाय के लोगों ने बस्ती जोधेवाल, जालंधर बाईपास समेत अलग अलग जगहों पर यातायात रोक दिया है। फगवाड़ा में भी हजारों की संख्‍या में लोग प्रदर्शन कर रहे हैं। शहर के शुगर मिल चौक पर रविदासिया समाज के लोग धरना देकर बैठ गए हैं। इससे यातायात पूरी तरह से ठप हो गया है। फरीदकोट, माेगा, कपूरथला में भी बंद का व्‍यापक असर हुआ है और बाजार बंद हैं। लोग सड़कों पर प्रदर्शन कर रहे हैं और बसें नहीं चलने से यात्रियों को भारी परेशानी हो रही है।

गुरदासपुर के बटाला सहित पूरे जिले में बंद के असर की खबर है। बटाला में शहर का मेन बाजार बिल्कुल बंद है। चप्पे-चप्पे पर सुरक्षा के प्रबंध किए गए है। यहां भी रविदास समुदाय  के लोग शांतिपूर्वक प्रदर्शन कर रहे हैं। पठानकोट में भी बंद का असर दिख रहा है। हनों के पहिये थम गए है। सुरक्षा के लिहाज से पुलिस ने शहर में बाहर से आने वाले वाहनों की एंट्री रोक दी है। जिलेभर में रविदास समाज के लोगों के प्रदर्शन की खबर है।

रूपनगर व तरनतारन में भी बंद का काफी असर है। बाजार बंद हैं और सड़क यातायात भी प्रभावित हुआ है। तरनतारन में लोगों ने प्रदर्शन किया। शहर के बोहड़ चौक पर प्रदर्शनकारियों ने जमकर नारेबाजी की। प्रदर्शन का नेतृत्‍व कर रहे रविदास समाज के नेताओं ने कहा कि भगवान रविदास जी का मंदिर गिराकर समाज को ठेस पहुंचाई गई है।

लुधियाना में भी बंद का काफी असर है। रविदास समाज के लोगों ने सुबह नौ बजे से शहर के अलग अलग हिस्सों में चक्का जाम कर दिया। जालंधर बाईपास, बस्ती जोधेवाल, ताजपुर चौक, भारत नगर चौक समेत अलग अलग हिस्साें में समुदाय के लोग सड़क पर उतरे हैं। शहर के निजी स्कूल व सरकारी स्कूल बंद हैं। पंजाब स्कूल शिक्षा बोर्ड ने सोमवार को कंपार्टमेंट परीक्षा रद करने का ऐलान किया था इसके बावजूद परीक्षा केंद्रों पर परीक्षार्थी पहुंचे। लेकिन उन्हें वापस जाना पड़ा।


रविदास समाज के लोग राज्‍य के विभिन्न जिलों में प्रदर्शन कर रहे हैं। जालंधर, लुधियाना, होशियारपुर, गुरदासपुर व कपूरथला में सरकारी व प्राइवेट स्कूल बंद है। अन्‍य जिलों में भी स्‍कूल बंद होने की खबर है।  पंजाब रोडवेज के जनरल मैनेजर परनीत सिंह मिन्हास ने कहा कि पंजाब रोडवेज मुख्यालय ने बसें बंद रखने संबंधी कोई आदेश जारी नहीं किया गया है। दूसरी ओर, कई जगहों पर बसों का परिचालन बाधित होने की खबर है। इस बीच केंद्रीय राज्य मंत्री सोम प्रकाश ने डेरा सचखंड बल्ला में गद्दीनशीं श्री 108 संत निरंजन दास जी से मुलाकात कर उनका आशीर्वाद लिया। उन्होंने भी लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है।

कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे चुके पूर्व सांसद सुनील जाखड़ ने प्रदर्शन के दौरान आम लोगों को कोई परेशानी न होने को यकीनी बनाने की अपील की है। जाखड़ ने कहा कांग्रेस रविदास समाज के साथ खड़ी है और सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर गिराए गए मंदिर के लिए उसी ऐतिहासिक स्थान को फिर से अलॉट करने व मंदिर के दोबारा निर्माण के मामले की पैरवी के लिए हर संभव सहयोग देगी। कांग्रेस के राज्यसभा सदस्य शमशेर सिंह दूलो ने भी इस मुद्दे पर केंद्रीय मंत्री थावर चंद गहलोत से मुलाकात की है।

शिरोमणि अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर बादल ने कहा है कि वह इस मुद्दे पर केंद्र सरकार से बात करेंगे। पूर्व सीएम प्रकाश सिंह बादल ने भी मंदिर गिराने की घटना को गलत बताया है। वहीं, केंद्रीय राज्य मंत्री सोम प्रकाश ने कहा है कि मंदिर के लिए दोबारा जमीन अलॉट करवाने का प्रयास करेंगे।

दूसरी ओर, पंजाब पुलिस ने बंद के दौरान आतंकी घुसपैठ की आशंका के मद्देनजर राज्य में हाई अलर्ट जारी कर दिया। सभी बटालियनो से जवानों को बुलाकर अलग-अलग जिलों में तैनात किया गया है। डीजीपी दिनकर गुप्ता ने बताया कि पांच हजार जवानों को जिलों में तैनात हैं। नाकों व सार्वजनिक स्थानों पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है। सूत्रों के अनुसार केंद्रीय खुफिया एजेंसियों ने पंजाब पुलिस को आतंकी घुसपैठ का अलर्ट जारी किया है।

वहीं, पंजाब में स्वतंत्रता दिवस तक पूरे राज्‍य में कड़ी सुरक्षा रहेगी। रविदास समाज के बंद के अलावा पंजाब रोडवेज, पनबस वर्कर्स यूनियन ने 14 से 16 अगस्त तक राज्य में बसों का चक्का जाम करने का ऐलान किया है। कई सिख संगठनों ने भी आंदोलन का फैसला किया है। इन हालात से निपटना पुलिस के लिए बड़ी चुनौती है। 15 अगस्त को राखी का त्योहार भी है। बाजारों व सड़कों पर खासी भीड़ रहेगी। पंजाब रोडवेज पनबस वर्कर्स यूनियन के प्रधान रेशम सिंह ने बताया कि कर्मचारी 15 अगस्त को गुलामी दिवस के रूप में मनाएंगे।

दल खालसा 15 अगस्त को राज्य में करेगा प्रदर्शन

दल खालसा, शिरोमणि अकाली दल अमृतसर व यूनाइटिड अकाली दल ने 14 अगस्त की शाम को चंडीगढ़ में और 15 अगस्त को 15 जिलों प्रदर्शन का कार्यक्रम बनाया है। दल खालसा के प्रवक्ता कंवरपाल सिह बिट्टू ने कहा कि अमृतसर, जालंधर, गुरदासपुर, होशियारपुर, लुधियाना, संगरूर, बठिंडा, मानसा, फिरोजपुर, फरीदकोट, पटियाला, फतेहगढ़ साहिब, चंडीगढ़, मोगा, बरनाला और तरनतारन आदि में प्रदर्शन किए जाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here