Sunday, May 19, 2024
Latest:
HaryanaLatestNCRPoliticsTOP STORIES

कॉग्रेस अध्यक्षा शैलजा ने पूर्व मंत्री एसी चौधरी की कराई घर वापसी , गुटबाज़ी आई सामने

Spread the love
फरीदाबाद , 11   अगस्त ( धमीजा ) : हरियाणा में कांग्रेस को मज़बूत करने के लिए पार्टी की प्रदेश अध्यक्षा कुमारी शैलजा सभी गुटों को साथ लेकर चल रही हैं लेकिन पार्टी नेताओं के आपसी मतभेद खुल के सामने आ रहे हैं। इसी कड़ी में कांग्रेस से खफा होकर भाजपा में गए पूर्व मंत्री ए सी चौधरी को पुनः कांग्रेस में शामिल कर कामयाबी हासिल की है।  कयास लगाए जा रहे हैं कि विगत लोकसभा एवं विधानसभा चुनावों के दौरान कांग्रेस छोड़  भाजपा में गए कई अन्यों की भी घर वापसी हो सकती है। लेकिन प्रदेश भर में ज़िलों में कांग्रेस संगठन ना होने की वजह से पार्टी ज़मीनी स्तर पर मज़बूत नहीं हो पा रही है।
फिलहाल पूर्व मंत्री ए सी चौधरी की घर वापसी को लेकर शहर में चारों और चर्चा है।  जो चौधरी सीना तान कर कहा करते थे , स्वर्गीय इंदिरा गांधी उन्हें अपना भाई मानती थी और राजीव गाँधी व संजय गाँधी उन्हें मामा का दर्ज़ा देते थे। उसी अगली पीढ़ी के कांग्रेस वर्चस्व के बावजूद बड़खल विधानसभा से श्री चौधरी को विधानसभा टिकट नहीं दी गयी , तभी स्वाभिमान के चलते श्री चौधरी कांग्रेस हाईकमान से खफा हो कर भाजपा में शामिल हो गए थे। वैसे लगभग पूरा राजनैतिक जीवन कांग्रेस में बिताने वाले श्री चौधरी इस बात पर भी गर्व किया करते थे कि पूर्व प्रधानमंत्री सरदार मनमोहन सिंह से भी उनकी घनिष्टता रही।  इसके बावजूद बड़खल से उनको विधानसभा टिकट ना देना राजनैतिक अन्याय था, और इस अन्याय के खिलाफ वह पार्टी छोड़ भाजपा में शामिल हो गए थे।  लेकिन कांग्रेस से भाजपा में आने वाले चौधरी सहित अन्य नेताओं को भी भाजपा में कोई तरजीह नहीं दी गयी। इसीलिए माना  रहा है कि यदि कांग्रेस छोड़ने वाले अन्य नेताओँ को कांग्रेस वापिस पार्टी में लाने के प्रयास करेगी तो कुमारी शैलजा व कांग्रेस को इसमें सफलता मिलने की काफी उम्मीद है।  लेकिन अध्यक्षा शैलजा को हरियाणा में पार्टी को मज़बूत करने के लिए संगठन खड़ा करना होगा और इसके लिए हाई कमान को कैसे राज़ी करना है ये उन्हें सोचना होगा।
पार्टी मज़बूत करने के पार्टी की गुटबाज़ी खुल के उनके सामने आ रही है। कल सोमवार को उनके सामने ही युवा कांग्रेस में संघर्षशील रह चुके सुमित गौड़ ने एक पूर्व मंत्री से नाराज़गी व्यक्त करते हुए कहा कि लोकसभा की टिकट आपको चाहिए। विधानसभा में आपको अपने बेटे के लिए टिकट चाहिये और जिला अध्यक्ष पद भी आपको अपने बेटे के लिए ही चाहिये।  यही नहीं फरीदाबाद में मेयर चुनावों के लिए भी आपका बेटा अपने आपको टिकट का दावेदार मान रहा है। असल में पूर्व मंत्री का कांग्रेस में अपना एक स्थान और सम्मान है। उन्होंने जलपान के दौरान अध्यक्षा से कहा कि फरीदाबाद में पार्टी कैसे मज़बूत होगी , यहां के कांग्रेसी नेता तो सफ़ेद कुर्ता पायजामा पहन भाजपा के केंद्रीय राज्य मंत्री के लिए काम करते हैं। उनके ये कहते ही वाकपटु कांग्रेसी नेता ने उन्ही पर तीर दाग दिया।  चर्चा तो ये भी ही कि पूर्व मंत्री के बीच बचाव में आने का प्रयास करने वाले एक नेता को बाद में भाजपा के केंद्रीय मंत्री ने फोन किया तो उसके हाथ पाँव फूल गए और उसने कहा कि मंत्री जी मैं तो आपके साथ हूँ , मैंने तो कुछ कहा ही नहीं। भाजपा मंत्री को सफाई देने वाले नेता का अवैध प्लॉटिंग का कारोबार है।
फिलहाल कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्षा संगठन को मज़बूत करने के प्रयास में जुटी हैं और सभी गुटों को साथ लेकर चल रही हैं।  भविष्य में अब और कौन सा नेता कांग्रेस में घर वापसी करता है जो विगत लोकसभा एवं विधानसभा चुनावों में कांग्रेस छोड़ गए थे , सभी की नज़रें इसपर टिकी हैं।