Sunday, May 19, 2024
Latest:
FEATUREDHaryanaLatestNationalNCRPoliticsTOP STORIES

कांग्रेस से इस्तीफे के बाद कुलदीप बिश्नोई अपने बेटे भव्य को भाजपा के चिन्ह पर आदमपुर से चुनाव लड़वाने के इच्छुक

Spread the love

चंडीगढ़ , 3 अगस्त ( धमीजा ) : हरियाणा में वर्ष 2019 में हुए विधानसभा चुनाव में हिसार की आदमपुर सीट से कांग्रेस के टिकट पर जीतने वाले कुलदीप बिश्नोई ने बुधवार को विधायक पद से इस्तीफा दे दिया। चंडीगढ़ में विधानसभा स्पीकर को इस्तीफा सौंपने के साथ ही कुलदीप ने स्पष्ट कर दिया कि उनके इस्तीफे के बाद खाली हुई आदमपुर सीट पर होने वाले उपचुनाव में वह खुद की जगह अपने बेटे भव्य बिश्नोई को चुनाव मैदान में उतारने के इच्छुक हैं।

कुलदीप बिश्नोई की इस इच्छा के साथ ही साफ हो गया कि क्रिकेटर रह चुके उनके बेटे भव्य अपनी राजनीतिक पारी की दूसरी इनिंग BJP में खेलेंगे। फिलहाल भव्य बिश्नोई विदेश में है। भव्य ने वर्ष 2019 में कांग्रेस के टिकट पर हिसार लोकसभा सीट से चुनाव लड़ा था और तब वह भाजपा के बृजेंद्र सिंह से हार गए थे। उस चुनाव में भव्य बिश्नोई कुल 1 लाख 84 हजार वोट लेकर तीसरे नंबर पर रहे थे।

1968 से आदमपुर सीट पर भजनलाल परिवार ही विजयी रहा 

आदमपुर विधानसभा सीट से अब तक पूर्व सीएम भजन लाल का परिवार ही चुनाव लड़कर जीतता रहा है। अब इसी सीट से उनकी तीसरी पीढ़ी चुनावी मैदान में उतरने जा रही है। भजन लाल ने खुद वर्ष 1968, 1972, 1977, 1982, 1990, 1996 और 2005 में आदमपुर सीट से चुनाव लड़ा। वर्ष 1987 में उन्होंने खुद की जगह अपनी पत्नी जसमा देवी को यहां से मैदान में उतारा।

वर्ष 2009 में उनके बेटे कुलदीप बिश्नोई की पत्नी रेणुका ने और 2014 व 2019 में खुद कुलदीप बिश्नोई ने आदमपुर सीट से चुनाव लड़कर जीत दर्ज की। कुलदीप के कांग्रेस छोड़ने और विधायक पद से इस्तीफा देने के बाद इस सीट पर होने वाले उपचुनाव में अब उनके बेटे भव्य बिश्नोई मैदान में उतरेंगे।

 चंद्र मोहन बिश्नोई अब भी कांग्रेस में

भजन लाल कांग्रेस पार्टी की ओर से तीन बार हरियाणा के सीएम बने। निधन के समय भजनलाल अपने बेटे कुलदीप बिश्नोई की पार्टी हरियाणा जनहित कांग्रेस (हजकां) के अध्यक्ष थे। पिता के निधन के बाद कुलदीप ने वर्ष 2016 में हजकां का कांग्रेस में विलय कर दिया। भजनलाल परिवार में कुलदीप के कांग्रेस छोड़ने के बाद अब केवल उनके भाई चंद्रमोहन ही ऐसे शख्स हैं जो कांग्रेस में है। कुलदीप के चचेरे भाई दूड़ाराम पहले से ही फतेहबााद से भाजपा के विधायक हैं।