स्वर साम्राज्ञी लता मंगेशकर में साक्षात माँ सरस्वती विराजमान : सलोनी चावला

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
फरीदाबाद की कवित्री सलोनी चावला ने स्वर साम्राज्ञी लता मंगेशकर
के जन्मदिवस पर उनके लिए कुछ पंक्तियाँ लिखी है।  लेखिका सलोनी
का कहना है कि इस देश और दुनिया में लता मंगेशकर के करोड़ों फैन हैं ,
लेकिन मैं उनमे साक्षात माँ सरस्वती का वास देखती हूँ और उनकी पूजा
करती हूँ। उनकी भक्ति करती हूँ , इसी नाते उन्होंने लता मंगेशकर के
जांदिवस के अवसर पर उनके लिए कुछ पंक्तियाँ लिखी हैं , जो उस प्रकार हैं –
जी चाहता है कि एक जन्म के लिए आप मुझे अपनी आवाज़ उधार दे दो,
मगर नहीं, आप की असली पहचान तो आपकी आवाज की दुर्लभता में ही है।
इसलिए आपकी आवाज़ उधार में भी नहीं मांगूंगी,
इसे आपकी धरोहर ही रहने दूंगी जनम-जनम के लिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *