किसानों व जजपा विधायक के बीच हिंसा , विधायक का निजी सचिव घायल , किसानों में भारी रोष

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

फतेहाबाद , 1 जून :  मंगलवार को खेती कानूनों के विरोध के चलते किसानों व जजपा विधायक के बीच माहौल गरमा गया और काफी उग्र हो गया। जिले के टोहाना में वैक्सीनेशन कैंप का उद्घाटन करने आए जजपा विधायक देवेंद्र बबली को किसानों के गुस्से का सामना करना पड़ा। आंदोलनकारियों ने विधायक की गाड़ी को घेर लिया। इस दौरान हमले में विधायक के निजी सचिव राधेश्याम बिश्नोई को चोटें आई हैं। इस मसले पर एक बार तो विधायक ने किसानों को गालियां निकाली, लेकिन बाद में एक वीडियो जारी करके सफाई भी देते नजर आए।

दरअसल टोहाना में मंगलवार को दिव्यांग बच्चों के लिए कोरोना वैक्सीनेशन कैंप का आयोजन किया गया । यहां टोहाना के विधायक देवेंद्र सिंह बबली को आना था। सूचना पाकर किसान सिविल अस्पताल के बाहर पहुंच गए, लेकिन विधायक कार्यक्रम में निर्धारित समय पर नहीं पहुंचे। बाद में विधायक के आने पर किसानों ने जमकर बवाल किया। वहीं विधायक ने किसानों पर गाड़ी को टक्कर मारने का आरोप लगाया। स्थिति गंभीर होते देख डीएसपी बिरम सिंह मौके पर पहुंचे, जिन्होंने ने किसानों को शांत करवाया। विरोध के दौरान विधायक की गाड़ी का पिछला शीशा टूट गया, विधायक बबली ने किसानों पर पथराव करने के आरोप लगाए हैं। इस दौरान विधायक के निजी सचिव राधे विश्नोई को भी चोट आई है, जिन्हें नागरिक अस्पताल में ही टांके लगाए गए।

इस घटनाक्रम के संबंध में विधायक के वीडियो भी सामने आया है। बबली ने कहा कि किसानों ने उन पर जानलेवा हमला किया है। उन्होंने कहा, ‘मैं वैक्सीनेशन कैंप के कार्यक्रम में जा रहा था। घर का सामान लेने के लिए मार्केट में रुका, तभी एक हरे रंग की जिप्सी ने पहले सड़क को ब्लॉक किया फिर मेरी गाड़ी को 3 बार हिट किया। जो लोग गाड़ी में सवार होकर आए थे, वो काफी उग्र हो गए थे। इसे देखते हुए मैने अपनी गाड़ी थाने के रास्ते से निकाली। उन लोगों ने मुझे गालियां दी, जिस पर मैंने भी गुस्से में उनका जवाब दिया। मैंने समझाने का प्रयास किया कि ये तरीका सही नहीं है। विधायक से पहले मैं एक आम आदमी हूं। किसानों को विरोध करने का हक है, लेकिन इस तरह किसी विधायक को सड़क पर घेरना गलत है। ये किसान नहीं हो सकते। किसानों के रूप में छिपे भेड़ियों ने मुझ पर जानलेवा हमला किया है’। उधर इस विवाद को लेकर किसानों ने चेतावनी दी है कि अगर 2 जून सुबह 9 बजे तक विधायक ने माफी नहीं मांगी तो टोहाना हिसार चंडीगढ़ रोड को जाम कर दिया जाएगा। इसी के साथ उन्होंने जननायक जनता पार्टी से भी मांग की है कि वह विधायक को अपनी पार्टी से बाहर निकाले।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *