Friday, June 21, 2024
Latest:
crimeHaryanaLatestNationalNCRPoliticsTOP STORIES

जजपा विधायक देवेंद्र बबली तथा किसानों के बीच हुई हिंसक झड़प का मामला गरमाया , मुकदमा दर्ज

Spread the love

चंडीगढ़ , 2 जून : कल मंगलवार को टोहाना में जजपा विधायक देवेंद्र बबली तथा किसानों के बीच हुई हिंसक झड़प को लेकर माहौल गरमा गया है। प्रदेश के गृह मंत्री अनिल विज ने इस विवाद में शामिल किसानों के प्रति सख्त रवैय्या अपना लिया है तो दूसरी और भारतीय किसान यूनियन ने आज एक सभा कर प्रशासन को चेतावनी दी है कि इस मामले में नामजद किए गए किसानों के खिलाफ दर्ज मुकदमा रद्द किया जाए तथा विधायक बबली के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जाये।

कल मंगलवार को फतेहाबाद जिले के टोहाना में वैक्सीनेशन कैंप का उद्घाटन करने आए जजपा   विधायक देवेंद्र बबली पर जानलेवा हमले के मामले को गृह मंत्री अनिल विज ने गंभीरता से लिया। उन्होंने दो टूक शब्दों में किसानों को चेतवानी दी है कि ऐसा विरोध बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। किसानों को आंदोलन करना है तो करें। काले झंडे-बैनर दिखाएं, लेकिन 200 मीटर दूर से।

देवेंद्र बबली के विरोध और उन पर हमले को लेकर विज काफी सख्त नजर आए। सख्त लहज़े में ही उन्होंने कहा कि आप किसी को कार्यक्रम में न जाने दें, घर न जाने दें, किसी को अस्पताल में रोगियों का हाल जानने न जाने दें, आखिर ये कैसा आंदोलन है। मंगलवार को टोहाना में जो हुआ, उस मामले में सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी। कानून किसी को हाथ में नहीं लेने दिया जाएगा।

देर रात किसानों के खिलाफ मुकदमा दर्ज , 9 नामजद  

मंगलवार देर रात विधायक देवेंद्र बबली के ड्राइवर और निजी सचिव की शिकायतों पर पुलिस ने 9 किसानों को नामजद करते हुए कई अन्य के खिलाफ केस दर्ज किया है। हालांकि, किसानों की तरफ से भी शिकायत दी गई थी, लेकिन उस शिकायत पर कोई कार्रवाई नहीं की गई। वहीं बुधवार को मामले ने तूल पकड़ लिया है। टोहाना के हिसार रोड स्थित टाउन पार्क के बाहर हजारों किसानों का जमावड़ा लग गया।

इस दौरान भारतीय किसान यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष गुरनाम सिंह चढूनी भी पहुंचे। उन्होंने मुख्य मांगों को लेकर प्रशासन के समक्ष बात रखी है। मंच से गुरनाम सिंह ने कहा कि विधायक और किसानों के बीच हुए मामले को लेकर किसानों पर जो मामले दर्ज किए गए हैं, वह वापस लिए जाएं। विधायक या तो किसानों के पास आकर माफी मांगे या फिर प्रशासन विधायक के खिलाफ मुकदमा दर्ज करें।