Friday, April 12, 2024
Latest:
HaryanaLatestNationalNCRPoliticsTOP STORIES

हरियाणा मंत्रिमंडल में विस्तार की तैयारी , जानें किसकी होगी छुट्टी किसकी लगेगी लाटरी

Spread the love

चंडीगढ़ , 28 नवंबर ( धमीजा ) : हरियाणा में मंत्रिमंडल विस्तार की चर्चाओं को लेकर सरगर्मियां तेज़ हो चुकी हैं , माना जा रहा है कि बीती रात नए मंत्रिमंडल  का खाका खींच लिया गया है, अब केवल घोषणा बाकी है। प्रदेश से जुड़े भाजपा के चार दिग्गजों की शनिवार रात को चंडीगढ़ में सीएम आवास पर हुई बैठक में इस पर मंथन किया गया। मंत्रिमंडल विस्तार की चर्चाएं पिछले तीन महीने से चल रही हैं। लेकिन अब जिस तरह से सीएम की प्रधानमंत्री से मुलाकात और इसके बाद भाजपा के नेताओं के साथ सीएम की मंत्रणा हुई, उससे इशारा यही है कि अब नए मंत्रियों के शपथ ग्रहण में ज्यादा देरी नहीं है।

सूत्रों की मानें तो शनिवार रात को सीएम मनोहर लाल खट्‌टर, भाजपा के प्रदेश प्रभारी विनोद तावड़े, संगठन मंत्री रविंद्र राजू और भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़ की चंडीगढ़ में सीएम आवास पर बैठक में मंत्रिमंडल विस्तार पर गहनता से विचार विमर्श हुआ । तावड़े के पास पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव का पद भी है, लेकिन वो पिछले पांच दिनों में दूसरी बार सीएम से मुलाकात कर चुके हैं।

भाजपा के साथ मत्रिमंडल में जननायक जनता पार्टी (जजपा) को भी एक पद मिलना है। डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला तय कर चुके हैं कि किसी मंत्री बनाना है, वहीं भाजपा का मंथन इस पर है कि जजपा को कौनसा मंत्रालय देना है। राजनीतिक गलियारों में चल रही चर्चाओं पर गौर करें तो हरियाणा में तीन नए मंत्रियों को शपथ दिलाने की तैयारी है।

कृषि कानूनों के खिलाफ चले किसान आंदोलन में भाजपा-जजपा दोनों ही पार्टियां किसानों के निशाने पर रही हैं। ऐसे में दोनों पार्टियों के बीच जुगलबंदी और गहरी हुई है। मंत्रिमंडल विस्तार से गाढ़े प्रेम में कहीं दरार न आ जाएग इसको लेकर भाजपा चौकन्नी है। जजपा में टोहाना के विधायक देवेंद्र बबली को मंत्री बनने के कयास लगाए जा रहे हैं।

चर्चा तो जजपा के मंत्री अनूप सिंह धानक के स्थान पर गुहला के विधायक ईश्वर को भी मंत्री की कुर्सी पर बैठाने की है, लेकिन जिस तरह से अनूप धानक पिछले दो सप्ताह से पार्टी के झज्जर में प्रस्तावित स्थापना दिवस की तैयारियों में लगे हैं, उससे बदलाव की संभावनाएं क्षीण बनी हैं। राजनीति संभावनाओं का खेल है, इसमें कब क्या हो जाए, कुछ कहना नामुमकिन है।

भाजपा में भी इसको लेकर मंथन हुआ है कि कमजोर परफॉरमेंस वाले मंत्री को बाहर किया जाए। मंत्रिमंडल में कम से कम तीन नए मंत्री बनाए जाने हैं। इसमें किस भाजपा विधायक की लॉटरी लगती है और किसकी कुर्सी जाती है ये जल्द पता लगेगा। एक मंत्री जजपा से भी बनना है। सूत्रों का कहना है कि दोनों ही पार्टियों ने अपने अपने नाम तय कर लिए हैं। कुछ मंत्रियों के विभागों में भी फेरबदल हो सकता है।