Wednesday, June 19, 2024
Latest:
Uncategorized

विधानसभा सत्र में सीएम खट्टर और पूर्व सीएम हुडा ने शायराना अंदाज़ में एक दूसरे पर छोड़े तीर , अभय चौटाला का वाकआउट

Spread the love

चंडीगढ़  , 28 दिसंबर ( धमीजा ) : हरियाणा विधानसभा के शीतकालीन सत्र के अंतिम दिन सीएम मनोहर लाल खट्‌टर और नेता विपक्ष पूर्व सीएम भूपेंद्र हुड्‌डा के बीच जमकर शायराना अंदाज़ में तरकश चले । गन्ने का भाव बढ़ाने की मांग को लेकर दोनों ने एक-दूसरे को शायरी में जवाब दिया।

पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्‌डा ने गन्ने का भाव बढ़ाने की मांग की। हुड्‌डा ने कहा- ‘चमन में कुछ पत्तियां झड़ गई होंगी, मानता हूं मैं, मानता हूं मै, यही इल्जाम हम पर लग रहा है बेवफाई का, अरे चमन को रौंद डाला जिन्होंने अपने पैरों से, वही दावा कर रहे हैं चमन की रहनुमाई का।

इसके जवाब में CM मनोहर लाल ने कहा – ‘जिसे निभा न सकूं, ऐसा वादा नहीं करता ! मैं बात अपनी सीमा से ज्यादा नहीं करता , तमन्ना रखता हूं कि आसमान छू लेने की, लेकिन औरों को गिराने का इरादा नहीं रखता’।

इसके बाद भूपेंद्र हुड्‌डा बोले- ‘न पूछ मेरे सब्र की इंतेहा कहां तक है, तू सितम कर ले तेरी हसरत जहां तक है। वफा की उम्मीद उन्हें होगी तुमसे, जिनकी आंखे बंद हैं, मैं तो दुनिया को दिखा रहा हूं, कि तू बेवफा कहां तक है।

इसके जवाब में CM मनोहर लाल बोले- हम भी दरिया हैं, हमें अपना हुनर मालूम है, जिस तरफ चल पड़ेंगे, रास्ते अपने आप हो जाएंगे।

इसके बाद भूपेंद्र हुड्‌डा बोले- मेरे जुनून का नतीजा जरूर निकलेगा। इसी स्याह समुंदर से नूर निकलेगा। उसी का शहर, वही मुद्दई, वही मुंशिफ, हमें यकीन था, हमारा कसूर निकलेगा।

इसके जवाब में CM मनोहर लाल ने कहा – ‘ मेरी खामोशियों का लिहाज कीजिए, मेरे लफ्ज आपसे बर्दाश्त नहीं होंगे।

हुड्‌डा ने सीएम पर मुद्दे से भटकाने का लगाया आरोप 
इसके जवाब में हुड्‌डा ने कहा कि सीएम ध्यान उधर-उधर ले जा रहे हो। हुड्‌डा ने नरवाना के दांतों के डॉक्टर का उदाहरण दिया। उन्होंने कहा कि डॉक्टर के पास कोई दांत दर्द की तकलीफ लेकर आया। डॉक्टर ने उसकी आंख में मिर्च का पानी डाल दिया। इस पर वह चिल्लाने लगा कि मेरी आंख- मेरी आंख। इस पर डॉक्टर ने कहा कि तेरे दांत में दर्द है। तो मरीज बोला कि दांत दर्द को छोड़ो, पहले मेरी आंख देखो। इसी तरह CM मनोहर लाल भी मुद्दे को भटका रहे हैं। गन्ने का भाव बढ़ाने पर कुछ नहीं कह रहे हैं।

डिप्टी सीएम दुष्यंत की मां नैना ने अपनी ही सरकार पर उठाए सवाल
विधानसभा में डिप्टी सीएम  दुष्यंत चौटाला की मां और बाढड़ा से विधायक नैना सिंह ने शिक्षकों की कमी को लेकर सरकार को घेरा। उन्होंने कहा कि स्कूलों में लगातार शिक्षकों की कमी चल रही है। उनके क्षेत्र में कुछ स्कूल ऐसे हैं जहां सिर्फ मुख्य अध्यापक ही है। ऐसे में वहां पढ़ने वाले बच्चों का भविष्य अंधकारमय है। हाल ही में एक स्कूल में ग्रामीणों ने ताला लगा दिया। बड़ी मुश्किल में उस ताले को खुलवाया जा सका है।

गन्ना भाव बढ़ाने पर कमेटी करेगी अध्ययन 
पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्‌डा ने कहा कि हरियाणा का गन्ना किसान परेशान है। सरकार को गन्ने के भाव पंजाब के बराबर करने चाहिए। इस पर सीएम ने कहा कि वह एक कमेटी बनाने की घोषणा कर रहे हैं, जो 15 दिन में इस मामले का अध्ययन कर अपनी रिपोर्ट देगी। इसके बाद ही सरकार इस पर फैसला लेगी। सीएम के जवाब से नाराज कांग्रेसी विधायकों ने सदन का बहिष्कार कर दिया।

अभय चौटाला ने किया वाकआउट 
काफी देर सदन में सत्ता पक्ष और विपक्ष के बीच हंगामा होता रहा। इसके बाद स्पीकर ने अभय चौटाला का ध्यानाकर्षण प्रस्ताव नामंजूर कर दिया । इससे नाराज अभय चौटाला ने सदन का वॉकआउट कर दिया।

इनेलो के विधायक अभय चौटाला और कांग्रेस के विधायकों ने किसानों पर दर्ज मुकदमों और शराब घोटाले के मुद्दे पर चर्चा शुरू की। डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने जवाब में कहा कि मामला कोर्ट में विचाराधीन है। इसके बाद भी विपक्षी दलों के विधायक सदन में चर्चा की मांग करते रहे। इसके बाद उनके ध्यानाकर्षण प्रस्ताव को नामंजूर करने के बाद उन्होंने वॉकआउट कर दिया।

गृह मंत्री ने अभय चौटाला को दी दादा बनने की बधाई
इस बीच राज्य के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने अभय चौटाला को टोकते हुए कहा कि उन्हे दादा बनने की बधाई हो। इसके बाद सदन में सब लोग हंसने लगे। भूपेंद्र सिंह हुड्‌डा और अन्य विधायकों ने फिर से इस मुद्दे पर चर्चा करने की मांग की तो CM मनोहर लाल ने कहा कि यदि विषय पर रहेंगे तो चर्चा हो सकती है, लेकिन दिखास के लिए यदि विरोध किया जाएगा तो चर्चा नहीं की जा सकती।

फरीदाबाद के मुद्दे पर स्पीकर भड़के मंत्री पर

फरीदाबाद में क्यूआरपी अस्पताल के पास हुई 4 सीवरमैनों की मौत के मामले में गलत जानकारी देने पर स्पीकर ज्ञानचंद गुप्ता मंत्री कमल गुप्ता पर भड़क गए। उन्होंने कांग्रेस विधायक नीरज शर्मा के सवाल पर 3 सीवरमैनों की मौत होने की बात कही। इस पर स्पीकर ने कहा कि सदन में सभी मंत्री सही जानकारी दें। साथ ही यह भी कहा कि जो भी अधिकारी सदन में गलत जानकारी दे रहे हैं उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए, जिससे अन्य अधिकारी भी सबक ले सकें।