Thursday, June 20, 2024
Latest:
BusinessHaryanaLatestNationalNCRPoliticsSportsTOP STORIES

यौन शोषण मामले में खेल मंत्री ने पॉलीग्राफी टेस्ट करवाने से किया इंकार, अभी तक चार्जशीट नहीं हुई दाखिल

Spread the love

चंडीगढ़ , 5 मई ( धमीजा ) : हरियाणा की जूनियर महिला कोच के यौन उत्पीड़न के आरोपों से घिरे मंत्री संदीप सिंह ने पॉलीग्राफ (लाई डिटेक्टर) टेस्ट कराने से इनकार कर दिया है। उन्होंने तर्क दिया कि वे चंडीगढ़ पुलिस की एसआईटी की जांच में शामिल हो चुके हैं। संदीप सिंह ने अपने वकील के जरिए ये जवाब दाखिल किया। चंडीगढ़ पुलिस की एसआईटी  ने कोर्ट में संदीप सिंह का पॉलीग्राफी टेस्ट कराने के लिए याचिका दायर की है। पुलिस ने याचिका में कहा है कि मंत्री के दावे पीड़ित महिला कोच के बयान का खंडन कर रहे हैं। ऐसे में मामले में सच्चाई का पता लगाने के लिए संदीप सिंह की ब्रेन मैपिंग जरूरी है।

इससे पहले मामले की सुनवाई कर रहे जज के ट्रांसफर होने से पुलिस को फिर तारीख मिली थी। कोर्ट की ओर से सुनवाई के लिए 5 मई की डेट तय की गई थी। हालांकि महिला कोच के वकील ने कोर्ट से अपील की है कि मंत्री के मामले में जल्द सुनवाई के प्रावधान लागू किया जाए। संदीप सिंह को इस मामले में 4 तारीखों में कोर्ट से मोहलत मिल चुकी है।

मंत्री ने आरोपों को बताया निराधार  

हरियाणा के पूर्व खेल मंत्री संदीप सिंह ने कोर्ट में 8 प्वाइंट में अपना जवाब दाखिल किया है। इस जवाब में संदीप सिंह ने इस पूरे मामले को झूठा बताया है। उन्होंने लिखा है कि जूनियर महिला कोच के द्वारा लगाए गए सभी आरोप निराधार हैं। वह इस मामले में चंडीगढ़ पुलिस एसआईटी  का पूरा सहयोग कर रहे हैं। अभी तक वह 8 जनवरी से 11 जनवरी तक पुलिस जांच में शामिल हो चुके हैं। इसके अलावा वह इस मामले से जुड़े सभी दस्तावेज पुलिस को सौप चुके हैं।

जूनियर महिला कोच की ओर से यौन उत्पीड़न के संबंध में दी गई शिकायत पर 30 दिसंबर 2022 को पूर्व खेल मंत्री एवं पूर्व ओलंपियन और भारतीय हॉकी टीम के कप्तान रहे संदीप सिंह के खिलाफ केस दर्ज किया था। चंडीगढ़ की सेक्टर-26 थाना पुलिस ने संदीप सिंह के खिलाफ पीछा करने, अवैध रूप से बंधक बनाने, यौन उत्पीड़न और आपराधिक धमकी देने के आरोप में केस दर्ज किया है।

महिला कोच ने लगाए शारीरिक-मानसिक प्रताड़ना के आरोप
महिला कोच का आरोप है कि मंत्री संदीप ने उन्हें शारीरिक और मानसिक रूप से परेशान किया। पहले तो उन्होंने बचने की कोशिश की, लेकिन उन्होंने परेशान करना जारी रखा। एसआईटी  मामले की जांच, चार्जशीट तैयार करने सहित सबूतों को जुटाने में लगी हुई है। महिला कोच के सबूतों से मंत्री संदीप के बयान मेल न खाने के चलते एसआईटी ने पॉलीग्राफी टेस्ट कराने की याचिका दायर कर रखी है

जूनियर महिला कोच ने हरियाणा के पूर्व खेल मंत्री संदीप सिंह के खिलाफ 30 दिसंबर को यौन शोषण का मामला दर्ज कराया था। इसके लिए चंडीगढ़ SSP की ओर से आईपीएस पलक गोयल की अध्यक्षता में जांच के लिए एसआईटी का गठन किया गया था। टीम के द्वारा दोनों पक्षों से पूछताछ की जा चुकी है, अब पुलिस को चार्जशीट दाखिल करनी है, लेकिन केस दर्ज होने के 90 दिन बाद भी पुलिस ने चार्जशीट दाखिल नहीं की है।