पिता ने 10 साल के बेटे की गला घोंटकर की निर्मम हत्या, चार दिन मे दूसरी वारदात

Spread the love

फरीदाबाद,16 अगस्त ( धमीजा) : सीकरी गांव की भगत सिंह कालोनी में रहने वाले एक व्यक्ति ने बड़े बेटे को पीट-पीट कर अधमरा कर दिया और 10 साल के बेटे की प्लास्टिक रस्सी से गला घोंटकर हत्या कर दी। शव को शिवराम क्लीनिक के पीछे झाड़ी में फेंककर फरार हो गया।
पलवल के मीसा गांव निवासी वीर सिंह ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि उनके दो बेटे हैं। बड़ा बेटा गांव में रहता है, जबकि 30 वर्षीय छोटा बेटा निखिल करीब दो साल से सीकरी की भगत सिंह कालोनी में परिवार सहित रह रहा है। उसके परिवार में पत्नी रेश्मा और दो बेटे धर्मेश 12 साल और हितेश 10 साल हैं। वह यहां नाई की दुकान करता था। वीर सिंह ने बताया कि निखिल नशा करने का आदी था और आए दिन अपनी पत्नी व बच्चों संग मारपीट करता था। उसकी पत्नी रेशमा अक्सर उससे ये बात कहती थी और घर छोडक़र जाने के लिए कहती रहती थी। वे उसे समझा-बुझाकर शांत करा देते थे।
सोमवार रात को भी किया झगड़ा
वीर सिंह ने बताया कि सोमवार रात करीब 11 बजे निखिल नशे में घर पहुंचा और पत्नी व बच्चों से झगड़ा किया। रात को ही रेशमा ने अपने ससुर को ये बात बताई थी। 12 वर्षीय बड़े बेटे धर्मेश ने पिता निखिल की मारपीट का विरोध किया तो आरोपी ने उसे भी पीट-पीटकर अधमरा कर दिया। मारपीट से धर्मेश बेहोश हो गया। मंगलवार तडक़े पत्नी रेशमा को एक कमरे में बंद कर और बड़े बेटे धर्मेश को बेहोशी की हालत में छोडक़र, छोट-बेटे हितेश को अपने साथ लेकर घर से निकल गया। इस दौरान उसने अपना फोन भी तोड़ दिया था। वीर सिंह के अनुसार इसकी सूचना रेशमा ने उन्हें दी। वे सुबह करीब छह बजे मीसा गांव से यहां भगत सिंह कालोनी आए। हितेश और निखिल की तलाश की गई। सुबह करीब आठ बजे कालोनी में रहने वाली दो महिलाओं ने बताया कि एक बच्चा झाड़ी में बेहोश पड़ा है। सूचना मिलते ही वहां जाकर देखा तो वह हितेश था। उसके गले में प्लास्टिक की रस्सी बंधी थी। निखिल का कुछ पता नहीं था।
आखिरी बार पिता को किया था फोन
वीर सिंह ने बताया कि निखिल के नशे की आदत से पूरा परिवार परेशान था। उसका नशा मुक्ति केंद्र में इलाज कराया गया। खूब समझाया गया, लेकिन वह नहीं माना। करीब छह साल पहले अपने बड़े भाई के सिर में राड मारकर उसे गंभीर रूप से घायल कर दिया था। निखिल अपने पिता से कभी बात नहीं करता था लेकिन सोमवार शाम उसने पिता वीर सिंह को फोन किया। फोन पर कहा कि वह उससे क्यों बात नहीं करते। वीर सिंह ने बताया कि वह नशा करना छोड़ देगा तो सबकुछ ठीक हो जाएगा।
चार दिन में आया दूसरा मामला
पिता द्वारा अपने बेटे की हत्या करने का ये दूसरा मामला है। 12 अगस्त को सुबह राजीव नगर में एक युवक सुंदर ने अपने डेढ़ माह के बेटे की गला घोंटकर हत्या कर दी थी। इस मामले में पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस पूछताछ में सामने आया कि दंपती के बीच झगड़ा रहता था।