Sunday, May 19, 2024
Latest:
BusinesscrimeEntertainmentGadgetsHaryanaLatestNationalNCRStyleTechnologyTOP STORIES

अपने को लंदन का नागरिक बताकर मैट्रिमोनियल साइट पर महिलाओं के साथ ठगी करने वाला नाइजीरियन गिरफ्तार, 2 लैपटॉप,  9 मोबाइल फोन, 7 सिमकार्ड बरामद

Spread the love
फरीदाबाद, 3 मई ( धमीजा ) : मैट्रिमोनियल साइट पर अपने आपको ब्रितनिया का नागरिक बता कर महिलाओं से लाखों करोड़ों की लूट करने वाले नाइजीरियन को फरीदाबाद पुलिस ने गिरफ्तार किया है। उक्त नाईजीरियन ने फरीदाबाद की महिला से 8 लाख रुपये की ठगी की है। उस महिला की शिकायत पर जब साइबर पुलिस ने पड़ताल की तो पुलिस उक्त विदेशी तक जा पहुंची और उसे दिल्ली से गिरफ्तार कर लिया । साइबर थाना सेंट्रल प्रभारी इंस्पेक्टर सतीश व उनकी टीम ने मेट्रोमोनियल साइट के माध्यम से साइबर ठगी की वारदातों को अंजाम देने वाले को गिरफ्तार कर बड़ी कामयाबी हासिल की है।
 
डीसीपी सेंट्रल पूजा वशिष्ठ ने प्रेस वार्ता में जानकारी देते हुए बताया कि गिरफ्तार किए गए आरोपी का नाम जॉन पॉल है जो नाइजीरिया का रहने वाला है और फिलहाल दिल्ली के उत्तम नगर में रह रहा था। आरोपी सितंबर 2021 में बिजनेस वीजा पर हिंदुस्तान आया था और तब से ही भारत के कुछ लोगों के साथ मिलकर साइबर फ्रॉड की वारदातों को अंजाम दे रहा है। उक्त आरोपी मेट्रोमोनियल साइट पर फर्जी आईडी बनाकर अपने आपको लंदन का नागरिक बताते हैं। मेट्रोमोनियल साइट पर शादी के लिए रिश्ता ढूंढने वाली महिलाएं विदेशी नागरिकों की आईडी देखकर उनसे संपर्क करने की कोशिश करती हैं जिसके पश्चात आरोपी उसे अपने जाल में फंसा लेते हैं। आरोपी कहते हैं कि वह कुछ दिन में भारत आएंगे और इसके पश्चात वह उसे शादी का लालच देते हैं। कुछ समय बातचीत करने के पश्चात एक दिन महिला को कई अन्य नंबरों से फोन आता है जिसमें वह कहता है कि उसकी मां बीमार है और उसके लिए उसे पैसों की आवश्यकता है। इस प्रकार बहाने बनाकर आरोपियों ने फरीदाबाद की रहने वाली एक महिला के साथ 8 लाख रुपए की साइबर ठगी की वारदात को अंजाम दिया था। इसके पश्चात जब आरोपी को पैसे प्राप्त हो गए तो अपना फोन बंद कर लेते है। पीडि़ता को जब इस पर ठगी के बारे में पता चला तो 26 अप्रैल को उन्होंने इसकी शिकायत साइबर थाने में दी जिसके पश्चात आरोपियों के खिलाफ  मुकदमा दर्ज करके मामले की जांच शुरू की गई। मामले में आगे कार्रवाई करते हुए साइबर टीम ने उक्त आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। मामले में गहनता से पूछताछ करने के लिए आरोपी को अदालत में पेश करके 4 दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया है जिसमें पुलिस पूछताछ में सामने आया कि आरोपी कुछ भारतीय लोगों के साथ मिलकर इस प्रकार की साइबर ठगी की वारदातों को अंजाम देते हैं। आरोपियों ने बताया कि महिलाएं विदेशी नागरिकों की आईडी देखकर झांसे में आ जाती हैं जिसका फायदा उठाकर वह उनसे पैसे ऐंठते हैं। आरोपी के कब्जे से 2 लैपटॉप, 09 मोबाइल फोन, 07 सिमकार्ड बरामद किए गए हैं। पुलिस जांच में सामने आया कि आरोपी द्वारा पीडि़ता से फ्रॉड के माध्यम से प्राप्त रकम को 5 खातों में भेजा गया है और इन 5 खातों में करीब 1 करोड रुपए का लेनदेन होना पाया गया है जिसकी जांच की जा रही है। पुलिस पूछताछ पूरी होने के पश्चात आरोपी को अदालत में पेश करके जेल भेजा जाएगा और मामले में शामिल अन्य आरोपियों के बारे में जानकारी प्राप्त करके उनकी धरपकड़ की जाएगी।