महात्मा गाँधी के शहीद दिवस पर सरकारी मौन के आदेश , पत्र में गायब है महात्मा गाँधी का ज़िक्र

Spread the love

चंडीगढ़ , 27 जनवरी ( धमीजा ) : हरियाणा में 30 जनवरी यानी महात्मा गाँधी के शहीदी दिवस पर अब अकेले राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को नहीं बल्कि स्वतंत्रता संग्राम में शहादत देने वाले सभी शहीदों की याद में 2 मिनट का मौन रखा जाएगा । गुरुवार को इसको लेकर सरकार ने आदेश जारी किए कि सभी कार्यालयों में 11 बजे कर्मचारी 2 मिनट का मौन धारण कर शहीदों को याद करेंगे। इसको लेकर आदेश केंद्र सरकार के हैं, जिसको हरियाणा में लागू करने की हिदायत मुख्य सचिव ने जारी की है।

पत्र में महात्मा गाँधी का जिक्र तक नहीं

सरकार की ओर से 30 जनवरी के कार्यक्रम को लेकर जो पत्र जारी किया गया है, उसमें राष्ट्रपिता की शहादत या श्रद्धांजलि को लेकर एक शब्द नहीं लिखा गया है। केंद्र की ओर से जारी पत्र में क्या है, इसको लेकर अभी सामने नहीं आया है। इतना पक्का है कि अब 30 जनवरी अकेले गांधीजी के नाम नहीं रहा। उनके साथ अन्य शहीदों के लिए भी 2 मिनट का मौन रखा जाएगा। आजादी के परवानों में तो गांधी जी का नाम अव्वल हैं ही। जब सभी शहीदों को याद किया जाना है तो उनमें गांधी जी तो शामिल हैं ही। बस फर्क इतना है कि 30 जनवरी केवल उनकी शहादत के नाम नहीं रहा है।

30 जनवरी भारतीय इतिहास का अहम दिन है। 1948 में इसी दिन नाथूराम गोडसे ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की गोली मारकर हत्या कर दी थी। उनकी पुण्यतिथि को हर साल शहीद दिवस के तौर पर भी मनाया जाता है। वैसे 23 मार्च को भी शहीदी दिवस मनाया जाता है क्योंकि उसी दिन भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव को फांसी दी गई थी।

हरियाणा में ये शुरुआत केंद्र के आदेश के हो रही है, जिसमें गांधी जी के साथ आजादी के संग्राम के अन्य शहीदों को भी याद किया जाना है। इसको लेकर गुरुवार को हरियाणा के मुख्य सचिव की ओर से सभी सरकारी कार्यालयों को निर्देश जारी किए गए हैं।

30 जनवरी को लेकर हरियाणा सरकार के ये आदेश हुए जारी।

सरकार ने जारी किये उक्त निर्देश 

सरकार के पत्र में लिखा गया है कि उपरोक्त विषय पर मुझे आपका ध्यान भारत सरकार के पत्र क्रमांक 2/1/2022- Public दिनांक 07.01.2022 (प्रति सलग्न) की ओर दिलाते हुये यह कहने का निर्देश हुआ है कि भारत के स्वतन्त्रता संग्राम में जिन्होंने अपने जीवन का बलिदान दिया था, उन शहीदों की स्मृति में दिनांक 30 जनवरी 2022 को पूर्वाह्न 11 बजे दो मिनट का मौन धारण किया जाए।

अतः यह कार्यक्रम हरियाणा सरकार के सभी कार्यालयों (चंडीगढ स्थित कार्यालय भी शामिल) में करवाना सुनिश्चित किया जाए। इसके अतिरिक्त भारत सरकार द्वारा यह भी निर्देश दिये गये है कि शहीदी दिवस के अवसर पर कोविड-19 के सम्बन्ध में समय-2 पर जारी की गई हिदायतों तथा मानक संचालन प्रक्रियाओं का सख्ती से पालन किया जाए।