BusinesscrimeHaryanaHealthLatestNationalNCRTOP STORIES

एक ही दिन में जाने माने अस्पताल एकॉर्ड की दो युवा महिला कर्मियों की रहस्यमयी मौत से सनसनी , परिजनों ने जताई हत्या की आशंका

Spread the love

फरीदाबाद ,6  दिसंबर ( धमीजा ) : फरीदाबाद के जाने माने एकॉर्ड हॉस्पिटल की दो युवा महिला कर्मियों की आत्महत्या की खबर से शहर में सनसनी फ़ैल गई है तथा घटना ने कई लोगों की नींद उड़ा दी है। एकॉर्ड अस्पताल की फार्मेसी जीएम और स्टाफ नर्स ने एक ही दिन खुदकुशी कर ली। एक का शव फ्लैट में और दूसरी का श‌व हॉस्टल में फंदे पर लटका मिला। एक दिन में अस्पताल के दो कर्मचारियों की मौत से स्टाफ भी हैरान है। हालांकि दोनों की आत्महत्या का आपस में अभी कोई कनेक्शन सामने नहीं आया है, लेकिन पुलिस मामले की जांच कर रही है। मृतक युवतियों के परिजनों का कहाँ है कि उनकी बहन बेटियां किसी भी हालत में आत्महत्या नहीं कर सकती , उनकी हत्या की गई है।

पलवल के कृष्णा कॉलोनी निवासी 27 वर्षीय शीतल ग्रेटर फरीदाबाद के सेक्टर-86 स्थित समरपाल सोसाइटी में किराए पर रहती थी। वह एकॉर्ड अस्पताल में जीएम फार्मेसी के पद पर कार्यरत थी। सोमवार को उसका शव फ्लैट में पंखे से लटका मिला। परिजनों को घटना की जानकारी तब हुई जब अस्पताल प्रबंधन ने उन्हें फोन कर बताया कि शीतल का मोबाइल नंबर दो दिन से बंद आ रहा है और वो अस्पताल नहीं आ रही हैं। परिजन जब उसके फ्लैट पर पहुंचे और पुलिस को सूचना दी तब पूरे मामले का खुलासा हुआ। शीतल के पिता देवेंद्र कुमार का कहना कि वह करीब 1 साल से वहां जीएम फार्मेसी के पद पर कार्यरत थी। साथ ही वह सिविल सर्विस की तैयारी भी कर रही थी।

 नर्स ने हॉस्टल में फांसी लगाकर दी जान

एकॉर्ड अस्पताल में स्टाफ नर्स के पद पर 1 साल से कार्यरत महेंद्रगढ़ की रहने वाली 26 वर्षीय कविता ने फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। वह अस्पताल के हॉस्टल पलवली गांव में रहती थी। पुलिस के मुताबिक कविता ने तीसरी मंजिल पर सरिया से चुन्नी बांध कर आत्महत्या की है। कविता के पिता का आरोप है कि उनकी बेटी ने आत्महत्या नहीं की। बल्कि उसकी हत्या कर उसे फांसी पर लटकाया गया है। इन दोनों घटनाओं में फिलहाल पुलिस को कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है।

परिजनों ने अस्पताल प्रबंधन पर खड़े किये प्रश्न , हत्या का शक जताया 
एकॉर्ड अस्पताल की अधिकारी डॉक्टर पूर्णिमा राव का कहना है कि पुलिस निष्पक्षता से जांच कर रही है। अस्पताल प्रबंधन पूरा सहयोग कर रहा है। उनकी दोनों कर्मचारियों ने आत्महत्या क्यों की इस बारे में अस्पताल प्रबंधन भी हैरान है ! फिलहाल मृतक शीतल के परिजनों ने अस्पताल प्रबंधन एवं फार्मेसी संचालक सचिन पर प्रश्चिन्ह लगाए हैं तथा उनका कहना है कि शीतल किसी भी हाल में आत्महत्या नहीं कर सकती , उन्होंने किसी षड्यंत्र के तहत हत्या का शक व्यक्त किया है।