Thursday, June 20, 2024
Latest:
HaryanaLatestNationalNCRPoliticsTOP STORIES

हरियाणा कैबिनेट में कई अहम फैसले : 22 से 26 तक विधानसभा सत्र , 19 विभागों का 8 में विलय , 100 गज के प्लॉट का भी हो सकेगा विभाजन

Spread the love

चंडीगढ़ , 1 दिसंबर ( धमीजा ) : आज हरियाणा कैबिनेट मीटिंग में मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कई बड़े अहम फैसलों को मंजूरी दी। बैठक में हरियाणा विधानसभा का शीतकालीन सत्र 22 से 26 दिसंबर तक चलेगा। कैबिनेट ने स्क्रैप पॉलिसी के साथ ही नई हरियाणा आत्मनिर्भर टैक्सटाइल पॉलिसी 2022-25 को मंजूरी दे दी। पुराने वाहनों को स्क्रैप करके नया वाहन खरीदने पर हरियाणा के लोगों को 10 प्रतिशत की छूट दी जाएगी। वाहन के पंजीकरण शुल्क में भी 25% की छूट मिलेगी। हरियाणा विधानसभा (सदस्यों के वेतन, भत्ते और पेंशन) अधिनियम के प्रस्ताव को भी मंजूरी दी गई है।

हरियाणा गठन के बाद पहली बार सरकारी विभागों का बड़े स्तर पर मर्जर हुआ है। 19 विभाग मर्ज कर आठ बना दिए गए हैं। इलेक्ट्रॉनिक एवं सूचना प्रौद्योगिकी विभाग को खत्म करने पर सहमति बनी है। आपूर्ति एवं निपटान विभाग को वित्त महकमे और अग्निशमन सेवाएं एवं सुरक्षा को शहरी स्थानीय निकाय से राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग में शिफ्ट किया जाएगा। एक विभाग से जुड़ा एजेंडा पास नहीं हो पाया। मर्जर के बाद बने नए विभागों के हिसाब से ही जल्दी मंत्रियों के पोर्टफोलियो में बड़ा बदलाव किया जाना तय है । यह दिसंबर के अंत या जनवरी में संभव है।

विधानसभा सदस्यों का भत्ता 15 हज़ार से बढ़कर हुआ 20 हज़ार
इसके अलावा, विधानसभा सदस्य को मिलने वाला 15,000 रुपये प्रति माह की दर से सचिवालय भत्ते की राशि को बढ़ाकर 20,000 रुपये प्रति माह की गई है। इस राशि को सदस्य द्वारा सचिवालय कार्यों के लिए सदस्य के सचिव के रूप में काम करने वाले अधिसूचित व्यक्ति को हरियाणा विधानसभा सचिवालय भुगतान कर सकता है।
 
शीतकालीन सत्र 22 से 26 तक 

हरियाणा कैबिनेट की बैठक चंडीगढ़ स्थित सिविल सचिवालय में खत्म हो गई। बैठक में शीतकालीन सत्र की तारीख तय की गई। इस बार हरियाणा विधानसभा का शीतकालीन सत्र तीन दिवसीय होगा। 22 दिसंबर से सत्र की शुरुआत होगी। 26 दिसंबर को समाप्ति होगी। इसके अलावा भी कई मुद्दों पर चर्चा की गई।हरियाणा विधानसभा का शीतकालीन सत्र की कैबिनेट में तारीख तय हो गई। 22, 23 और 26 दिसंबर को सत्र बुलाया जाएगा। कैबिनेट में तारीख तय होने के साथ ही अब मंजूरी के लिए राज्यपाल को भेजी जाएगी। विधानसभा में सत्र को लेकर सभी तैयारियां अभी से पूरी कर ली गई हैं।