Wednesday, June 19, 2024
Latest:
BusinesscrimeHaryanaLatestNationalNCRTOP STORIES

सेक्टर -9 में रहने वाले उद्यगपति के घर व कंपनी में छापे , दीवारों में से बरामद हुए करीब 3 करोड़ , जांच जारी

Spread the love

फरीदाबाद , 7 अप्रैल ( धमीजा ) :  फरीदाबाद के सेक्टर 9 में रहने वाले एक बिजनेसमैन के घर सेंट्रल गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स (CGST) की टीम द्वारा की गई रेड में करोड़ों रुपये की नगदी बरामद हुई है।  छापेमारी की यह कार्रवाई उद्योगपती के घर और सेक्टर 6 स्थित कंपनी पर एक साथ की गई।

बताया जा रहा है कि छापेमारी के दौरान बिजनेसमैन के घर से करीब 3 करोड़ कैश बरामद हुआ। यह कैश दीवारों के अंदर छिपाकर रखा गया था। इस बारे में सीजीएसटी की टीम ने आयकर विभाग को भी सूचना दे दी है। अब आयकर विभाग भी मामले की जांच करेगा। कहा जा रहा है कि उद्यमी इनकम टैक्स में गड़बड़ी कर कारोबार कर रहा था। फिलहाल विभाग के किसी भी अधिकारी ने कोई आधिकारिक ब्यान नहीं दिया है ,उक्त जानकारी अनाधाकारिक रूप से प्राप्त हुई है ।

दीवारों के अंदर छिपा रखे थे करोड़ों रुपये 
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सेक्टर 9 में रहने वाले उद्यमी की सेक्टर 6 में कंपनी है। उसमें वह टूल्स बनाने का काम करता है। सीजीएसटी को सूचना मिली थी कि उक्त उद्यमी बिना सीजीएसटी जमा किए ही कारोबार कर रहा है। सूचना पर सीजीएसटी फरीदाबाद की एंटी इवेंशन ब्रांच ने टीम गठित कर गुरुवार की देर रात कंपनी और घर पर एक साथ छापेमारी की। विभागीय सूत्रों ने बताया कि छापेमारी के दौरान घर से टीम को करीब तीन करोड़ रुपए का कैश मिला। ये कैश दीवारों के अंदर अलमारियां बनाकर रखा  गया था।

विभागीय सूत्रों के मुताबिक बताया कि बिजनेसमैन से जब सख्ती से पूछताछ की गई तो उन्होंने बताया कि कैश दीवारों में छिपाकर रखा गया है। इसके ऊपर से प्लास्टर कराके चित्रकारी कराई गई थी। जब प्लास्टर हटाया गया तो कैश बरामद हुआ। उसकी गिनती के लिए मशीन मंगाकर गिनती कराई गई। जिसमें करीब तीन करोड़ रुपए पाए गए। सीजीएसटी विभाग ने इसकी सूचना आयकर विभाग को दे दी। अब दोनों विभाग मामले की जांच में जुटी हैं।

मोबाइल व लैपटॉप जब्त , जाँच में जुटे अधिकारी 
विभागीय सूत्रों ने बताया कि बिजनेसमैन का लैपटॉप और मोबाइल फोन जब्त कर लिया गया है। उसकी जांच की जा रही है। यह पता लगाया जा रहा है कि उद्यमी ने अपने उत्पाद का कितना सीजीएसटी जमा नहीं कराया है। कितने माल आदि की सप्लाई बाहर कर चुका है। इनकम टैक्स रिटर्न क्यों नहीं भर रहा था। इसके अलावा उसके अन्य लेन-देन की जांच की जा रही है। अभी कोई कानूनी कार्रवाई नहीं की गई है। विभागीय अधिकारियों का कहना है कि जांच पड़ताल पूरी होने के बाद ही कानूनी कार्रवाई की जाएगी।