Wednesday, July 17, 2024
Latest:
HaryanaLatestNationalNCR

दिल्ली एवं फरीदाबाद के आसमान में छाए जहरीले धुएं ने शहर को गैस चैंबर में किया तब्दील

Spread the love

अभी कोविड से दिल्ली वालों की जंग खत्म भी नहीं हुई है और नया खतरा सामने है. सर्दी के मौसम हर साल दिल्ली एवं फरीदाबाद  के आसमान को जकड़ लेने वाला जानलेवा स्मॉग फिर से फरीदाबाद को अपनी गिरफ्त में लेने लगा है. दिल्ली एवं फरीदाबाद के आसमान में छाए जहरीले धुएं ने शहर को गैस चैंबर में तब्दील कर दिया है. खतरनाक स्तर पर पहुंच चुके प्रदूषण के कारण दिल्ली-एनसीआर में विजिबिलिटी घट कर 500 मीटर रह गई है. गुरुवार को राजधानी में अलग-अलग जगहों पर AQI लेवल 400-700 रिकॉर्ड किया गया है.

डॉक्टरों की टीम ये रिसर्च कर रही है कि कहीं दिल्ली में आए तीसरे कोरोना वेव का पॉल्यूशन से तो कोई सीधा कनेक्शन तो नहीं है. क्योंकि पॉल्यूशन भी फेफड़ों को काफी नुकसान पहुंचा रहा है. स्मॉग की वजह से हाई राइज बिल्डिंग से 400 मीटर आगे कुछ नहीं दिख रहा.

इंडिया गेट का लुटियन्स इलाका हो या फिर सराय काले खां और सिग्नेचर ब्रिज, राहत कहीं भी नहीं है. दिल्ली गैस चैंबर में तब्दील नजर आ रही है. लोग भी शिकायत कर रहे हैं कि आंखों में जलन हो रही है और सांस लेना मुश्किल हो गया है. दिल्ली के सीमावर्ती इलाकों का तो और भी बुरा हाल है.

दिल्ली में सुबह से ही एयर क्वालिटी इंडेक्स खतरनाक स्तर पर है. ज्यादातर इलाकों में एक्यूआई 500 के पार चला गया है. ज्यादातर इलाके कत्थई रंग में रंगे हुए हैं. ये हवा में प्रदूषण के खतरनाक स्तर को दिखा रहा है.

  एक तरफ प्रदूषण की मार है तो दूसरी तरफ कोरोना का कहर है. राजधानी दिल्ली सहित फरीदाबाद  को इन दो मुसीबतों ने मुश्किल में डाल रखा है. पिछले 24 घंटों में दिल्ली में करीब 7 हजार नए केस सामने आए. ये हाल के दिनों में एक दिन में सबसे ज्यादा मामला है. दिल्ली सरकार इसे कोरोना की तीसरी लहर बता रही है.
  दिल्ली फरीदाबाद  में  कोविड ने एक बार फिर से सिर उठाना शुरू कर दिया है. कल दिल्ली में 6842 केस सामने आए जबकि 51 लोगों की मौत भी हुई. दिल्ली में कोरोना के कुल केस की संख्या अब चार लाख पार पहुंच चुकी है. हालांकि दिल्ली सरकार जनता को ये भी आश्वस्त कर रही है कि घबराने की बात नहीं है क्योंकि मृत्यु दर के काबू कर लिया गया है.