Wednesday, July 17, 2024
Latest:
BusinesscrimeGadgetsHaryanaLatestNationalNCRTechnologyTOP STORIES

मेवात में पुलिस की फ़ौज ने साइबर क्राइम को लेकर की भारी भरकम रेड , 125 लोगों सहित भारी मात्रा में मोबाइल व फ़र्ज़ी सिम बरामद

Spread the love

फरीदाबाद , 28 अप्रैल ( धमीजा ) : फरीदाबाद के साथ लगते मेवात के जामताड़ा नूंह में पुलिस की भारी भरकम फ़ौज ने साइबर ठगों पर अब तक की सबसे बड़ी रेड की। 5 हजार से अधिक पुलिसकर्मियों और अधिकारियों की अलग-अलग टीमों ने एक साथ 14 गांवों में छापेमारी की। पुलिस ने इस दौरान साइबर क्राइम से जुड़े 125 हैकर्स व साइबर अपराधियों को काबू किया। रेड में इकराम गैंग के उत्तर प्रदेश से 10 हजार रुपए के इनामी बदमाश साबिर उर्फ भुत्तू निवासी जैवंत को एक अवैध कट्टा व एक कारतूस (रौंद) सहित काबू किया। साबिर उर्फ भुत्तू वाहनों की लूट, चोरी सहित अन्य करीब 3 दर्जन वारदातों में राजस्थान, हरियाणा व दिल्ली में वांटेड था।

रेड में मोबाइल और फ़र्ज़ी सिम का ज़खीरा बरामद 
रेड के दौरान पुलिस ने पकड़े गए आरोपियों और हैकर्स से कुल 66 मोबाइल, जाली डॉक्यूमेंट्स पर लिए 65 सिम, 166 आधार कार्ड, 3 लैपटॉप, अलग-अलग बैंकों के 128 एटीएम कार्ड, 2 एटीएम स्वाइप मशीन, 1 एपीएस मशीन, 6 स्कैनर, 5 पैन कार्ड बरामद किए गए हैं। इसके अलावा 7 देसी कट्टे, 2 कारतूस, 2 कार, 4 टैक्टर-ट्राली और 22 मोटरसाइकिल भी जब्त किए गए हैं। पुलिस ने साइबर व अन्य आपराधिक मामलों से संलिप्त 69 आरोपियों को टारगेट करते हुए छापेमारी की गई।

इनपुट मिलने पर साइबर फ्रॉड हॉट स्पॉट एरिया में रेड
पुलिस को नूंह जिले के अलग-अलग क्षेत्रों में साइबर फ्रॉड से संबंधित इनपुट मिले थे। एक कमरे में बैठे-बैठे कुछ लोग दूसरों के बैंक खातों को साफ कर रहे हैं। साइबर क्राइम के हॉटस्पॉट एरिया को चिन्हित कर इन ठिकानों पर भारी पुलिस बल के साथ एक साथ रेड की गई। हरियाणा पुलिस ने 5 हजार से अधिक पुलिसकर्मियों की अलग-अलग टीमें गठित की। जिसमें 1 एसपी, 6 एडिशन एसपी, 14 डीएसपी सहित अन्य पुलिसकर्मियों ने साइबर अपराध के खिलाफ अभियान छेड़ा।

पुलिस की 102 टीमों ने की रात भर छापेमारी
साइबर ठगों पर यह कार्रवाई पुलिस की विभिन्न जिलों की गठित की गई 102 रेडिंग टीमों द्वारा की गई। पुलिस की अलग-अलग टीमों ने एक साथ पुन्हाना, पिनगवां, फिरोजपुर झिरका व बिछौर एरिया के 14 चिन्हित गांवों में छापेमारी कर कार्रवाई को अंजाम दिया। गुरूवार रात 11.30 बजे इस अभियान की शुरुआत हुई थी। जिसके तहत कार्रवाई देर रात तक चली।

पुलिस बल की ब्रीफिंग से लेकर विभिन्न टारगेट्स पर तलाशी अभियान तक इस ऑपरेशन की कुल अवधि 24 घंटे रही। डीजीपी हरियाणा प्रशांत कुमार अग्रवाल के निर्देश पर दक्षिण रेंज रेवाड़ी के एडीजीपी एम रवि किरण, डीआईजी एसटीएफ सिमरदीप सिंह तथा एसपी नूंह वरुण सिंगला ने व्यापक कार्रवाई करते हुए इस पूरे ऑपरेशन को सफल बनाने में अहम भूमिका निभाई।

एसपी नूंह वरुण सिंगला ने बताया कि 4 अप्रैल से 8 अप्रैल तक भोंडसी में चले साइबर प्रशिक्षण कार्यक्रम के बाद पुलिस को मिली खुफिया जानकारी के बाद से ही नूंह में साइबर ठगों पर शिकंजा कसने के लिए इस विशेष ऑपरेशन की रूपरेखा तैयार की गई थी।

पुलिस ने पहले जिले के साइबर क्राइम के हॉटस्पॉट माने जाने वाले 14 गांवों की मैपिंग कर टारगेट्स फिक्स किए। साइबर अपराध के हॉटस्पॉट के तौर पर खेड़ला, लुहिंगा खुर्द, लुहिंगाकलां, गोकलपुर, गोधोला, अमीनाबाद, महूं, गुलालता, जैवंत, जखोपुर, नई, तिरवाड़ा, मामलिका और पापड़ा गांव को चिंहित करने के बाद ताबड़तोड़ छापेमारी कर कार्रवाई को अंजाम दिया गया। जिला नूंह में पुलिस द्वारा 8 अप्रैल के बाद से साइबर ठगी के मामलों से संलिप्त 20 अपराधियों को पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है।

पकड़े गए आरोपी 
नई गांव से ही 31 साइबर अपराधियों को पकड़ा गया है। लुहिंगा कलां गांव से 25, जैवंत और जखोपुर से 20-20, खेड़ला और तिरवाडा़ से 17-17, और अमीनाबाद से 11 व अन्य गांव से भी साइबर अपराधी पकड़े गए हैं। पुलिस ने इन अपराधियों के पास से भारी मात्रा में मोबाइल फोन, एटीएम और अन्य उपकरण के साथ ही नकदी भी बरामद की है ।

दुसरे प्रदेशों से भी जुड़े हैं हैकर्स के तार
शुरुआती जांच में पकड़े गए आरोपियों के दूसरे राज्यों के साइबर अपराधियों के साथ भी संबंधों की बात सामने आई है। पुलिस को शक है कि दूसरे राज्यों के गैंग से मिलकर भी ये लोग वारदातें कर रहे थे। इस बारे में उनसे पूछताछ की जा रही है।