Wednesday, July 17, 2024
Latest:
BusinessHaryanaHealthLatestNCRStyleTechnologyTOP STORIES

महंगाई एवं वैश्विक मंदी के दौर में जीडी गोयनका हैल्थ केयर अकादमी बनी युवक युवतियों के भविष्य बनाने का केंद्र 

Spread the love

फरीदाबाद , 14 मार्च ( धमीजा ) : वैश्विक मंदी के इस दौर में जीडी गोयनका हेल्थ केयर अकादमी युवक युवतियों को रोज़गार दिलवाने के लिए तीव्रता से प्रसिद्धि पा रहा है।  एनआईटी फरीदाबाद में चल रहे इस अकादमी को एक वर्ष पूर्ण हुआ है और इस एक साल में ही इस केंद्र से पेरा मेडिकल का कोर्स करके निकले छात्र छात्राएं नामी हॉस्पिटल व नर्सिंग होमों में कार्य करने लगे हैं।  महंगाई एवं मंदी के इस दौर में जिन बच्चों को अपना भविष्य अंधकारमय नज़र आता था , आज वही बच्चे अस्पतालों में सम्मानजनक नौकरी करने लगे हैं।  

दसवीं व 12वीं पास करने के बाद जिन बच्चों को भविष्य की राह नहीं मिल रही थी , जीडी गोयनका हेल्थ केयर अकादमी ने उन्हें ऐसी राह दिखाई है , जिसकी उन छात्र छात्राओं ने कल्पना भी नहीं की थी।  अकादमी की चेयरपर्सन प्रभा त्रिखा ने बताया कि इस एक साल में उनकी अकादमी से 15 -15 छात्र छात्राओं के दो बैच निकल कर शहर के नामी अस्पतालों व नर्सिंग होमों में कार्य कर रहे हैं। अगले बैच केलिए अब तक 98 छात्र छात्राएं पंजीकरण करवा चुके हैं। अपना भिवष्य तलाश रहे बच्चे भारी तादाद में उनके यहां पहुँच रहे हैं। जो बच्चे आर्थिक कारणों अथवा किसी भी वजह से इंजीनियरिंग , डॉक्टरी या एमबीए आदि नहीं कर पाते और उन्हें अपना भिवष्य नज़र नहीं आ रहा होता , उनका संस्थान ऐसे युवक युवतियों के लिए मील का पत्थर बनता जा रहा है। श्रीमती त्रिखा ने बताया कि उनके संस्थान में दो साल का डिप्लोमा तथा 6 महीने का सर्टिफिकेट कोर्स करवाया जाता है। जिसकी कुल फीस मात्र 27 हज़ार रुपये से 1.25 लाख रुपये है। इतनी काम फीस में पढ़ कर व प्रिशक्षण लेने के बाद बच्चों को स्वास्थय क्षेत्र में सम्मानजनक कार्य करने के खुले अवसर मिलते हैं।